Breaking News
Home / breaking / कोरोना बेकाबू : मध्यप्रदेश में एक दर्जन से ज्यादा शहरों में लॉकडाउन

कोरोना बेकाबू : मध्यप्रदेश में एक दर्जन से ज्यादा शहरों में लॉकडाउन

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ने और इस पर काबू पाने की कवायद के बीच आज राजधानी भोपाल समेत एक दर्जन शहरों में रविवार को लॉकडाउन लागू करने का पूरा असर दिखाई दिया। इस दौरान सड़कें सुनसान नजर आईं।

भोपाल के अलावा इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, खरगोन, रतलाम, ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, नरसिंहपुर और सौंसर में शनिवार रात्रि नौ बजे से दस बजे के बीच लॉकडाउन प्रारंभ हुआ है, जो सोमवार सुबह छह बजे तक रहेगा। राज्य के 52 जिलों के इन शहरों में कोरोना का प्रकोप लगातार कई दिनों से देखा जा रहा है, इसलिए एक पखवाड़े के दौरान इन स्थानों पर इसी तरह लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया गया है।

लॉकडाउन के दौरान अत्याधिक आवश्यक सेवाओं को मुक्त रखा गया है। हालाकि आज कोरोना वैक्सीनेशन केंद्रों पर टीकाकरण का कार्य पूरे प्रदेश में जारी है और लॉकडाउन वाले क्षेत्रों में टीका लगवाने वालों को आने जाने की छूट प्रदान की गई है। आने वाले समय में कुछ और शहरों नगरों में रविवार का लॉकडाउन लगने की संभावना से इंकार नहीं किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रतिदिन राज्य में कोरोना की स्थिति काे लेकर समीक्षा कर रहे हैं और हालातों के मद्देनजर स्थानीय स्तर पर आपदा प्रबंधक समिति की बैठक में लॉकडाउन और अन्य आवश्यक निर्णय राज्य सरकार की सहमति से लिए जा रहे हैं।

राज्य में कुल 52 में से 27 से अधिक जिलों में अब प्रतिदिन 20 से ज्यादा मरीज लगातार मिल रहे हैं। सरकार का कहना है कि जहां पर प्रतिदिन 20 से अधिक कोरोना मरीज मिलें, वहां पर कोरोना पर काबू पाने के लिए और अधिक आवश्यक कदम उठाए जाएं। सरकार का यह भी प्रयास है कि आर्थिक गतिविधियां नहीं रुकें और लॉकडाउन का भी सहारा नहीं लेना पड़े।

राज्य में वर्तमान में एक्टिव केस 20 हजार को पार कर गए हैं। कल फिर एक ही दिन में रिकार्ड 2839 नए मामले सामने आए और 15 लोगों की मृत्यु हुयी। अब तक 4029 लोग जान गंवा चुके हैं। सक्रिय मामलों में सबसे अधिक इंदौर और भोपाल जिले में हैं, जिनकी संख्या लगभग पांच पांच हजार के आसपास है।

राज्य सरकार ने इंदौर और भोपाल जिला प्रशासनों के अलावा अन्य जिलों को भी कोरोना की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक उपाय करने के लिए कहा है। मॉस्क लगाना आवश्यक किया गया है। ऐसा नहीं करने वालों पर अब सख्ती की जाएगी। जुर्माने के अलावा ऐसे लोगों को कुछ घंटों के लिए खुली जेल में रखा जाएगा।

इस बीच राज्य में अब तक 41,73,810 लोगों को कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। राज्य सरकार ने प्रतिदिन चार लाख नागरिकों से अधिक को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इंदौर और भोपाल में भी वैक्सीन लगवाने के प्रति लोगों में उत्साह देखा जा रहा है।

Check Also

डॉक्टर ने पैर की चमड़ी से जोड़ दी महिला की कटी जीभ, अब मुंह के अंदर उगने लगे बाल

  लंदन। इंग्लैंड में रहने वाली 48 साल की एनाबेल लोविक ने कैंसर जैसी बीमारी को …