Breaking News
Home / breaking / ऐक्ट्रेस ने ब्रेस्ट कैंसर सर्जरी के निशान दिखाए, यूजर ने पूछा बेतुका सवाल

ऐक्ट्रेस ने ब्रेस्ट कैंसर सर्जरी के निशान दिखाए, यूजर ने पूछा बेतुका सवाल

 
मुंबई। छोटे पर्दे की मशहूर अदाकारा छवि मित्तल (Chhavi Mittal) एक कैंसर सर्वाइवर है. हाल ही में अदाकारा ने अपने इंस्टाग्राम पर अपनी एक शानदार फोटो शेयर की थीं. जिसमें उन्होंने बेहद शानदार तरीके से अपने कैंसर सर्जरी के निशान (Chhavi Mittal Breats Cancer) को फ्लॉन्ट करती हुई देखी गई थीं. छवि की इन तस्वीरों को फैन्स खूब पसंद किया. वहीं उनकी बहादुरी की जमकर तारीफें भी कीं.
हालांकि उनके इस पोस्ट पर कईयों ने उन्हें ट्रोल किया और बेहद इंसेंसिटिव तरीके से सवाल किया है, जिसका अब बहादुरी से जवाब देकर छवि उनकी बोलती बंद कर दी.
बीते साल छवि ने ब्रेस्ट कैंसर जैसी घातक बीमारी को मात कर अपनी खुशनुमा जिंदगी में वापस लौट चुकी हैं. वह अब लोगों को ब्रेस्ट कैंसर के प्रति लोगों को जागरुक कर रही हैं. अपने नए पोस्ट में छवि भले ही यूजर्स को लताड़ लगा रही हैं लेकिन उन्होंने अपनी बात इतने सही तरीके से रखा है कि हर उनका कोई फैन बन गया है.
 
छवि मित्तल ने अपने इंस्टाग्राम पर एक यूजर के कमेंट का प्रिंटशॉर्ट शेयर की हैं. इसमें यूजर ने उनसे सवाल करते हुए लिखा, “ब्रेस्ट कैंसर के लिए ब्रेस्ट कटाना पड़ता है क्या?”. इस प्रिंटशॉर्ट को शेयर करते हुए छवि ने खुलासा किया उन्हें हमेशा असंवेदनशील कमेंट्स का सामना करना पड़ता है.
 
छवि ने दिया जवाब

छवि ने अपने पोस्ट के कैप्शन में लिखा- “हां! यह असंवेदनशीलता अभी भी जारी है… मैंने हाल ही में एक बीच से अपनी छुट्टियों की कुछ तस्वीरें पोस्ट की हैं और इस कमेंट ने मेरा ध्यान आकर्षित किया है. मेरे ब्रेस्ट की यहां एक वस्तु की तरह चर्चा की जा रही है. क्या मैं यह कहकर शुरू कर सकती हूं कि मैं एक ब्रेस्ट कैंसर पीड़ित हूं” उत्तरजीवी और इस अंग को जीवित और अच्छी तरह से रखने के लिए बहुत कठिन संघर्ष किया है? जबकि मैं इस मुद्दे के बारे में जिज्ञासा को पूरी तरह से समझता हूं, एक छोटी सी संवेदनशीलता क्या आपको नहीं लगती? इस तरह की टिप्पणियों के लिए. खैर, सेलेब्स भी इंसान हैं. उनमें सामान्य इंसानों की तरह भावनाएं होती हैं. उन्हें सामान्य इंसानों की तरह कैंसर होता है. वे सामान्य इंसानों की तरह जीते और मरते हैं. किसी के लिए इतनी असंवेदनशील कमेंट कोई कैसे कर सकता है. “आदत” नहीं है . जीवित रहने के लिए कोई लड़ता है जिसका शारीरिक और साथ ही भावनात्मक असर जीवन भर रहता है”.
छवि ब्रेस्ट कैंसर के बारे में आगे डिटेल्स से बताती हैं. वह आगे लिखती हैं कि महिलाओं को यह समझने में मदद करने के लिए कि बीसी सर्जरी कैसे होती है … एक लम्पेक्टोमी है (मैंने इसे किया था) जहां वे सिर्फ गांठ को हटाते हैं (पूरे स्तन को नहीं). मास्टेक्टॉमी है, जहां कैंसर के फैलने के कारण पूरे स्तन को निकाल दिया जाता है. यह शुरुआती स्टेज में होता है. हां मैंने स्तनों को पहले जैसा दिखने के लिए मैंने रीकन्स्ट्रक्शन सर्जरी भी करवाई थी. इसमें मेरी लैटिसिमस डॉर्सी मसल के एक टुकड़े को काटकर और एक मिनी फ्लैप बना गया. मास्टेक्टॉमी के मामले में सिलिकॉन का विकल्प चुना जा सकता है खैर मैंने नहीं करवाया. मुझे सिलिकॉन की जरूरत नहीं थी, “.
पोस्ट के आखिरी में किया धन्यवाद
आगे वह फिर लिखती हैं, “मैं यह फिर कहना चाहूंगी कि कैंसर से बचे रहना मेरे लिए एक जीवन बदलने वाला अनुभव रहा है. यह एक नया जीवन है जिसे मैं जी रही हूं और यह पहले वाले जैसा नहीं है. यह 7 महीने हो गए हैं लेकिन उस दर्द और उस पीड़ा की वजह से आज भी रोती हूं लेकिन मैं फिर से अपने शरीर की मालकिन बन गई हैं. आगे उन्होंने पोस्ट के कैंसर सर्वाइवर को डेडिकेट कीं और ऐसे अंसवेदनशील कमेंट्स करने वालों को धन्यवाद देते हुए पोस्ट को खत्म किया है.

Check Also

ससुराल वाले डाल रहे थे धर्मान्तरण का दबाव, दामाद ने की खुदकुशी

मेरठ। एक हिंदू युवक के सुसाइड का सनसनीखेज मामला सामने आया है. अहम बात यह …