Breaking News
Home / breaking / अलीगढ़ में मासूम की हत्या के मामले में अब तक चार अरेस्ट

अलीगढ़ में मासूम की हत्या के मामले में अब तक चार अरेस्ट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ के टप्पल क्षेत्र में हैवानियत की शिकार मासूम की हत्या के सिलसिले में पुलिस ने शनिवार को एक महिला समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ समाज को शर्मसार किए जाने वाले इस मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

उधर, घटना से आक्रोशित अलीगढ़ के वकीलों ने मासूम के हत्यारों का मुकदमा नहीं लड़ने का फैसला किया है। अधिवक्ताओं का कहना है कि अगर जिले के बाहर का भी काेई वकील इस मामले की पैरवी करने की हिमाकत करता है तो उसे अदालत परिसर में घुसने नहीं दिया जाएगा।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि मासूम की हत्या में शामिल मेहंदी हसन और एक महिला को आज गिरफ्तार कर लिया गया। इससे पहले पुलिस दो आरोपियों जाहिद और असलम को गिरफ्तार कर चुकी है। मेहंदी हसन आरोपी जाहिद का भाई है। जिस दिन मासूम का शव मिला, उसी दिन मेहंदी फरार हो गया था।

इस बीच मासूम की हत्या को लेकर प्रदेश में आक्रोश का माहौल है। प्रदेश कांग्रेस ने इस जघन्य कांड की भर्त्सना करते हुए शनिवार शाम लखनऊ के हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर कैंडल धरना देने का फैसला किया है।

इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मासूम की हत्या को लेकर ट्वीट के जरिये सरकार पर निशाना साध चुकी है। बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मृतक के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए राज्य की कानून व्यवस्था की हालत पर चिंता व्यक्त की थी।

इससे पहले सरकार ने ढाई साल की टिवकंल की हत्या के मामले की जांच विशेष जांच दल के हवाले करने की घोषणा की थी। हत्यारोपियों के खिलाफ पाक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जाएगा। एसआईटी का गठन अलीगढ़ के पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) मनीलाल पाटीदार के नेतृत्व में किया गया है जो अपनी रिपोर्ट 15 दिन के भीतर देगी।

उन्होने बताया कि फोरेंसिक दल, स्पेशल आपरेशन ग्रुप और विशेषज्ञों का दल एसआईटी के अंग होंगे जो हत्या से जुड़े पहलुओं की जांच तेजी से करने में मदद करेंगे। पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) ने पीड़ित के साथ बलात्कार किए जाने की संभावना को नहीं नकारते हुए कहा था कि फोरेंसिक जांच में वास्तविक कारणों का पता चलेगा।

इस बीच हैवानियत की शिकार ढाई साल की टिव्कंल की मां शिल्पा शर्मा ने आरोपियों को मृत्युदंड देने की मांग की है। उन्होने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकारों से गुहार लगाती हूं कि मेरी बच्ची के गुनाहगारों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। हम आरोपियों की फांसी की मांग करते हैं। अगर वह सात साल बाद जेल से बाहर आए तो ऐसी ही किसी और बच्ची को निशाना बनाएंगे।

Check Also

विवाहिता का अपहरण कर पूरी रात किया गैंगरेप

सिरसा। हरियाणा के सिरसा की महिला पुलिस ने एक विवाहिता की शिकायत पर तीन लोगों …