Breaking News
Home / breaking / ख्वाजा साहब का उर्स शुरू, जन्नती दरवाजा खोला

ख्वाजा साहब का उर्स शुरू, जन्नती दरवाजा खोला


अजमेर। राजस्थान के अजमेर में सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के 806वें सालाना उर्स के अवसर पर रविवार को चांद रात होने के कारण सुबह जन्नती दरवाज़ा खोल दिया गया।

इसके बाद जन्नती दरवाजे से निकलकर आस्ताना शरीफ पहुंचकर जियारत करने की होड़ लग गई। देर शाम रजब का चांद दिखाई देने पर जन्नती दरवाजा अगले छह दिनों के लिए खुला रहेगा। चांद नहीं दिखने पर इसे रात में बंद कर सोमवार तड़के पुनः खोला जाएगा जो कुल की रस्म के बाद ही बंद होगा।

साल में महत्वपूर्ण मौको पर चार बार खुलने वाले इस दरवाजे से निकलकर जियारत करने के पीछे मान्यता है कि इस दरवाजे से सात बार गुजरने वाले मुसलमान को जन्नत नसीब होती है।

ख्वाजा साहब के सालाना उर्स की गत 14 मार्च को परंपरागत झंडा चढ़ाने की रस्म के साथ ही अनौपचारिक शुरुआत हो गई थी। इसके बाद से दरगाह में उर्स की रौनक बढ़ने लगी है और चांद दिखाई देने पर छह दिवसीय उर्स विधिवत शुरू हो जाएगा।

मोदी की चादर होगी पेश

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनकी ओर से अजमेर शरीफ के ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर चढ़ाई जाने वाली चादर अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को सौंपी। यह चादर आगामी दिनों में पेश की जाएगी।

Check Also

मन्दिर में दर्शन करने आई बीकॉम छात्रा ने चंबल नदी में कूदकर दी जान

    इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा के बढपुरा इलाके में चंबल नदी के पुल …