Breaking News
Home / breaking / गंगा में तैरता मिला मेडिकोज छात्रा का शव, सुसाइड नोट भी मिला

गंगा में तैरता मिला मेडिकोज छात्रा का शव, सुसाइड नोट भी मिला

कानपुरः उन्नाव के गंगा घाट पर पानी में एक MBBS की छात्रा का शव तैरता हुआ मिला। जिससे पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की पहचान गणेश शंकर मेडिकल कालेज में अंतिम वर्ष की छात्रा अमृता सिंह के रूप में की है। शव के पास एक सुसाइड भी मिला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
मूलरूप से झांसी के केकेपुरी कॉलोनी में रहने वाले अमृता सिंह के पिता रामस्नेही सिंह सिविल इंजीनियर हैं। रामस्नेही फिलहाल इटावा में तैनात हैं। परिवार में पत्नी श्याम सुंदरी के अलावा तीन बेटियां और एक बेटा है। उनकी एक बेटी आरती की शादी हो चुकी है और दूसरी अनामिका फ्रांस में एमबीए कर रही है।
अमृता ने सुसाइड नोट में लिखा है कि मुझे माफ करना मैं बहुत कमजोर हो गई हूं। पता नहीं कैसे, लेकिन मुझे अपने डर से ही डर लगने लगा है। मेरे पास सबकुछ है दर्द, डर और तनाव। अब इस दर्द को रोज-रोज बर्दाश्त नहीं कर सकती हूं। मैं सभी से माफी मांगती हूं। मैं बहादुर नहीं बन सकी।
आगे लिखा कि मुझे नहीं पता कि सबकुछ तैयार होने के बाद जब परीक्षाएं आती हैं तो मैं क्यों डर जाती हूं। इस वजह से पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित नहीं हो पाता है। मेरी दोस्त अनुषी कहती है कि तुम कुछ ज्यादा ही सोचती हो। आराम से रहो सब कुछ ठीक होगा और तुम सफल होगी। फिर भी मेरे हाथ में कुछ भी नहीं है।
वह रोना चाहती है मर जाना चाहती है। मैं मम्मी-पापा से माफी मांगती हूं। मैंने बहुत कोशिश की लेकिन शायद इससे ज्यादा नहीं कर पाऊंगी। आपकी बेटी बहुत कमजोर पड़ गई है। आई लव यू मम्मी-पापा। हर चीज के लिए धन्यवाद। बता दें कि मृतक अमृता ने करीब साढ़े चार पेज के सुसाइड नोट लिखा है। अमृता को इतने तनाव में क्यों थी कि इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

Check Also

निजी डॉक्टर ने फेसबुक पर मोदी को लेकर अमर्यादित टिप्पणी की, पुलिस को शिकायत पेश

अजमेर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में फेसबुक पर एक पोस्ट में उपयोग में ली …