Breaking News
Home / breaking / डॉ.पाथरकर बने नामदेव समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष

डॉ.पाथरकर बने नामदेव समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष

[19/08, 5:47 a.m.] +91 9993
न्यूज नजर डॉट कॉम
अमरावती। महाराष्ट्र के अमरावती में ऑल इंडिया नामदेव क्षत्रिय फेडरेशन, न्यू दिल्ली की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक 17-18 अगस्त को आयोजित हुई। जिसमें देश के लगभग 18 राज्यों से वरिष्ठ समाज सेवी सम्मिलित हुए।
संत नामदेव महाराज सांस्कृतिक सभागृह, G.S. टोम्पे महाविद्यालय, चांदूरबाजार जिला अमरावती महाराष्ट्र में श्री भास्कर राव टोम्पे जी के सौजन्य से सामाजिक समागम बड़े ही उत्साह के साथ मनाया गया। इसमें निर्विरोध, सर्वसम्मति से समाज रत्न डाक्टर एन.जी.पाथरकर को महासंघ का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया।
कार्यक्रम में समाज के गणमान्य समाजसेवी वक्ताओं ने सर्वसम्मत मत व्यक्त किया कि संत शिरोमणि श्री नामदेव जी महाराज के समस्त स्वजातीय  परिजन अनुयाई एवं विभिन्न प्रदेशों में विभिन्न घटकों गुटों में बंटे हुए समाज के सभी जन एक होकर संगठित होकर समाज के व्यक्तियों को परिजनों को राष्ट्रीय स्तर पर आज तक जो राजनीतिक आर्थिक प्रशासनिक न्याय एवं अधिकार नहीं मिले हैं उन अधिकारो को दिलाएं पूरे भारतवर्ष में समाज की जनसंख्या लगभग पांच से सात करोड़ के आसपास है और उस अनुपात में उसकी भागीदारी नगण्य है इस हेतु समाज को व्यापक रूप से संगठित होना ही होगा।

पूरे देश में निकलेगी मशाल यात्रा

 कार्यक्रम में यह भी प्रस्ताव रखा गया कि इस वर्ष संत शिरोमणि नामदेव जी महाराज की 750वी जयंती को “संत नामदेव वर्ष” के रूप में मनाया जाए, जिसमें एक जलती हुई मशाल पूरे देश में भेजी जावेगी, जो कि पंढरपुर से शुरू होती हुई सम्पूर्ण भारत वर्ष में विभिन्न स्थानों पर पहुंचेगी तथा सामाजिक एकता का माध्यम बनेगी।

ये हुए शामिल

कार्यक्रम में विशेष रूप से हुबली कर्नाटक से पधारे पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री पी.के.लालगे जी, छत्तीसगढ़ से पधारे कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष परम आदरणीय श्री ज्वालाप्रसाद जी नामदेव, बिलासपुर एवं राष्ट्रीय संरक्षक परम आदरणीय योगाचार्य श्री के.एल. नामदेव जी रायपुर, राष्ट्रीय महासचिव श्री एस.एस. टोनी जी नई दिल्ली, सफल कार्यक्रम के संयोजक भास्कर राव टोम्पे अमरावती, संघ के संस्थापक सदस्य श्री बाला साहब अंबेकर, डा.श्री नारायण गणपत पाथरकर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आदरणीय श्री राजेन्द्र नामदेव गाडरवारा, राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष श्री प्रवीण जी खोडे अमरावती, कोषाध्यक्ष श्री राजपाल जी रोहिला हरियाणा,  महादेव हुड्पूढ़कर जी अकोला, सरदारश्री बलजीत सिंह जी खुरपा अंबाला,श्री महेश अंबादास जी मांढरे पुणे,श्री राधे श्याम नामदेव लखनऊ,श्री रामचन्द्र वी. होमकर जी पूना, श्री मोती लाल नामदेव फतेहपुर, श्रीमति सुमन ताई दुर्गा दास ब्राम्हण कर पूना,  श्री नारायण प्रसाद नामदेव रायपुर, श्री अनिल बरोलिया रायपुर, श्री धर्मेश नामदेव रायपुर, श्री राकेश कुमार जी नामदेव देहरादून श्री बलराम नामदेव देहरादून, श्री वेद प्रकाश शर्मा देहरादून,श्री ओमप्रकाश नामदेव देहरादून,श्री दीपक मधुकर राव, श्री जेपी नामदेव श्री ओमप्रकाश नामदेव,श्री अरविंद वामन राव अमरावती, श्रीमती श्री दयानेश नासिक, श्री दत्ता मधुकर नासिक, प्रवीण मुरलीधर पवार नासिक, श्री रामचंद्र जी होम कर पुणे, श्री रविंद्र भानुदास  केलकर, सुरेश रघुनाथ  नासिक, चंद्रकांत गजानन शिंदे बुलढाणा, विश्राम काकुस्थ रायबरेली उत्तर प्रदेश, श्री सरवन कुमार  उन्नाव, सागर सुरेश मांढरे पुणे, श्री शिव शंकर  जी वर्मा बिलासपुर, श्री गजानन शंकरराव  खामगाव बुलढाणा, गुणवंत राव वाकरे अकोला, महाराष्ट्र प्रकाश राव महानकर अकोला, श्री प्रमोद अगरकर अकोला, विजय नंद मुरत कर, नितिन  जी, अरविंद जी अकोला, मनोहर माधवराव पेड़के अमरावती, श्री ईश्वर   धीरडे नागपुर, श्री सुधर्मा  खोडे नागपुर, दीपक नानोटकर नागपुर, श्री दामोदर जोध नागपुर, श्री प्रमोद कोरमकर अध्यक्ष विदर्भ नामदेव शिंपी समाज नागपुर, श्री गोविंदराव उज्जवलकर नागपुर,राजू बाबू राव जाल वाला भंडारा,श्री दिलीप मारोराव चुनने नागपुरिया,श्री रमेशचंद्र के बेलगे अमरावती,श्री शिव शंकर लाल वर्मा बिलासपुर, भूषण दादा साहब फ़ोनके अमरावती, श्री नरेश सुदर्शन रामगिरी, अमरावती, श्री विजय शंकर राव, श्री विनोद भैया साहेब  अमरावती, श्री बनारसीदास रादौर, श्री ईश्वर राव नामदेव धीरडे नागपुर, श्री बलजीत सिंह खुरपा कुरुक्षेत्र हरियाणा, श्रीमती हरप्रीत कौर खुरपा, कुरुक्षेत्र, सरदार श्री जनरल सिंह नामदेव धोरा री अंबाला, श्रीमती लीला देवी कुरुक्षेत्र श्री अनिल बरौलिया रायपुर एवं अमरावती क्षेत्र के 100 से ज्यादा परिवारों की उपस्थिति इस राष्ट्रीय कार्यकारिणी सभा में रही।

Check Also

VIDEO : त्रिवेणी घाट की गंगा आरती कर देगी आपके तन-मन को सम्मोहित

ऋषिकेश। हरिद्वार से 25 किलोमीटर दूर स्थित ऋषिकेश के त्रिवेणी घाट पर रोज शाम होने …