Breaking News
Home / breaking / बैंडबाजों की सुरीली धुनों कर बीच निकली रेवाड़ी, भक्तों ने बरसाए फूल

बैंडबाजों की सुरीली धुनों कर बीच निकली रेवाड़ी, भक्तों ने बरसाए फूल

 

अजमेर। जलझूलनी एकादशी पर सातु बहना धिराणियां जोगणिया धाम पुष्कर की चल देव मूर्तियां का नगर भ्रमण हुआ। तीर्थ सरोवर पुष्कर के जयपुर घाट पर जलाभिषेक कर आरती की गई।
गुरुवार शाम बैंडबाजों की सुरीली धुनों और ढोल की थाप के बीच जोगणिया धाम से रेवाड़ी निकली।

धाम के संस्थापक ज्योतिषाचार्य भंवरलाल सहित इंदर सिंह चौहान, महेंद्र विक्रम सिंह, पंडित संजय मिश्र, प्रशांत वर्मा और बड़ी संख्या में महिला-पुरुष झूमते-थिरकते साथ चल रहे थे। रास्ते में कई श्रद्धालुओं ने फूल बरसाकर रेवाड़ी का स्वागत किया।

होटल संचालकों ने शॉल ओढ़ाकर ज्योतिषाचार्य भंवरलाल का अभिनन्दन किया। जयपुर घाट पर प्रतिमाओं को विधि विधान पूर्वक जल विहार कराकर आरती की गई। इस दौरान महिला श्रद्धालुओं ने बैंड पर गूंजती आरती पर भाव विह्वल होकर नृत्य किया। बाद में गाजे-बाजे से सवारी पुनः जोगणिया धाम पहुंची।

Check Also

मध्यप्रदेश में शिवराज मामा को आया पसीना

भोपाल। मध्यप्रदेश में 15 साल से लगातार शासन करने वाले शिवराज सिंह चौहान को इस …