Breaking News
Home / breaking / ब्यावर दुखान्तिका : पाली में छीपा समाज की श्रद्धांजलि सभा आज, सूरत में कल, फागोत्सव भी स्थगित

ब्यावर दुखान्तिका : पाली में छीपा समाज की श्रद्धांजलि सभा आज, सूरत में कल, फागोत्सव भी स्थगित

न्यूज नजर डॉट कॉम

पाली। ब्यावर में गत 16 फरवरी को गैस सिलेंडर दुखान्तिका में नामदेव छीपा समाज के 15 लोगों सहित 20 जनों की मृत्यु को लेकर हरतरफ शोक व्याप्त है। मृतकों की आत्मा की शान्ति के लिए ब्यावर में हवन, श्रद्घांजलि के आयोजन हो रहे हैं।

 

पाली में भी नामदेव छीपा समाज की तरफ से श्री श्याम जी मन्दिर प्यारा चौक में सर्व धर्म समाज की श्रद्धांजलि सभा 24 फरवरी को आयोजित की जाएगी।

समाज अध्यक्ष राजेश पाटनेचा ने बताया कि इस दर्दनाक हादसे को लेकर समस्त समाज शोकमग्न है। पीड़ित समाजबंधुओं के दर्द में शामिल होते हुए 25 फरवरी को प्रस्तावित समाज का फागोत्सव स्थगित कर दिया गया है। साथ ही 24 फरवरी को प्यारा चौक हेटला बास पाली में शाम 5 बजे सर्व समाज की श्रद्धांजलि सभा आयोजित की जाएगी।

इसी तरह सूरत में राजस्थान छीपा समाज की तरफ से 25 फरवरी को सुबह 10 बजे भटार रोड पर उमा भवन के पास स्थित वैष्णो देवी मंदिर में श्रद्धांजलि सभा आयोजित की जाएगी।

माउन्ट आबू में अर्पित की श्रद्धांजलि

श्री नामदेव छीपा समाज आबू पर्वत द्वारा ब्यावर में विवाह समारोह के दौरान गैस सिलेंडर फटने से हुई सामाजिक त्रासदी को लेकर श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई।

सभा को सम्बोधित करते हुए समाज अध्यक्ष हजारीमल जी ने कहा कि इस घटना से पूरे समाज मे शोक की लहर छाई है एवं इस सामाजिक छति की भरपाई करना नामुमकिन है। समाज उपाध्यक्ष अक्षय चौहान ने कहा कि इस दुख की घड़ी में पूरा समाज पीड़ित परिवार के साथ खड़ा है। शोक सभा में सभी समाज बन्धुओं ने दो मिनिट का मौन रख नम आंखों से श्रद्धा सुमन अर्पित किए। सभा में संरक्षक मंसाराम, मीठालाल, सचिव मुकेश चौहान, कोषाध्यक्ष लक्ष्मण परिहार, प्रचार मंत्री धनराज चौहान, चम्पालाल, पूर्व अध्यक्ष हिम्मत टेलर , भवरलाल परडिया, शंकर लाल, जितेंद्र परडिया, भूराराम चौहान, ताराचंद चौहान, भंवरलाल सोलंकी, नवाराम सोलंकी, नारायण लाल सहित सभी समाज बंधु मौजूद रहे।

 

मालूम हो कि ब्यावर के कुमावत भवन में कालूराम पाटनेचा छीपा के पुत्र हेमन्त के विवाह समारोह में रसोई गैस सिलेंडर फटने से समारोह स्थल भवन की छत गिर गई थी। हादसे में कुल 20 जने काल का शिकार हो गए। इनमें पीपाड़ के 10, पाली के 2, निमाज के 1, ब्यावर के 7 जने शामिल हैं। इस दुखान्तिका में सबसे ज्यादा वज्रपात नामदेव छीपा समाज पर हुआ है। समाज को अपने 15 लोगों को खोना पड़ा है। हंसते-खेलते परिवारों का मानो सब कुछ उजड़ गया है।

 

यह भी पढ़ें

ब्यावर गैस सिलेंडर दुखान्तिका का असली जिम्मेदार कौन ? सवाल और गहराया

ब्यावर गैस सिलेंडर दुखान्तिका : एक और घायल ने जयपुर में दम तोड़ा, मृतक संख्या 20 हुई

सिलेंडर ब्लास्ट : दूल्हे की मां सहित कुल 19 शव निकाले, 1 अब भी लापता

ब्यावर दुखान्तिका : कलेक्टर के खिलाफ लोगों में रोष, मंत्रियों को घेरा

सिलेंडर ब्लास्ट में मृतक संख्या 10 हुई, मुख्यमंत्री वसुंधरा पहुंचीं, छीपा परिवार को बंधाया ढाढस

Check Also

शादी का झांसा देकर 7 महीने तक करता रहा युवती से दुष्कर्म

  किशनगंज। बिहार के किशनगंज जिले में शादी का झांसा देकर एक युवती से कई …