Breaking News
Home / breaking / वर्षा-आंधी से 11 की मौत, पीएम की सभा में तिनके की तरह उड़ी कुर्सियां-पांडाल

वर्षा-आंधी से 11 की मौत, पीएम की सभा में तिनके की तरह उड़ी कुर्सियां-पांडाल

गांधीनगर। गुजरात के कई इलाकों में मंगलवार को दोपहर बाद आयी आंधी, वर्षा और ओलावृष्टि के बीच जहां तीन महिलाओं समेत कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई वहीं चुनावी मौसम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बुधवार को होने वाली एक सभा के लिए बनाए गए पंडाल समेत कम से कम दो बड़े पंडाल भी धराशायी हो गए।

राज्य के पाटण, राजकोट, अरावल्ली, बनासकांठा, महेसाणा, अहमदाबाद, गांधीनगर, सुरेन्द्रनगर, मोरबी जिलों के विभिन्न हिस्सों में तेज आंधी, बरसात अथवा ओलावृष्टि हुई। इसके चलते तरबूज, खरबूज और मौसमी सब्जियों की फसल के अलावा कड़ी, राजकोट, राधनपुर समेत विभिन्न मार्केटिंग यार्ड में खुले में रखा गेहूं, धनिया और कुछ अन्य कृषि उपजों को भी नुकसान पहुंचा है।

वर्षा जनित घटनाओं में सर्वाधिक तीन मौतेे महेसाणा में जबकि दो दो बनासकांठा और माेरबी जिलों में हुई हैं। राजकोट जले के खाखराबेला गांव में एक महिला की आंधी में पेड़ गिरने से मौत हो गई। उधर साबरकांठा जिले के चिंधमाल गांव में बिजली का खंभा गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

बनासकांठा जिले के आशिया और चाला गांव में दो लोागें की बिजली गिरने से मौत हो गई जबकि इसी वजह से मोरबी जिले तीथल और गीदज गांव में भी दो लोगों की मौत हो गई। सुरेन्द्रनगर जिले के ध्रांगध्रा बायपास के निकट एक रेलवे फाटक के बैरिकेड के आंधी में टूट कर गिर जाने से एक महिला की मौत हो गई।

महेसाणा जिले के चांदरडा गांव में पेड़ गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि वीजापुर के मालसणा में बिजली गिरने से एक व्यक्ति की मौत हुई। जिले के ऊंझा क्षेत्र में आंधी के कारण धूल उड़ने से कम हुई दृश्यता के कारण हुई एक सड़क दुर्घटना में सरकारी बस में सवार एक यात्री की मौत हो गई।

अहमदाबाद के वीरमगाम के वांसवा गांव में एक महिला की बिजली गिरने से मौत हो गयी।
उधर धूल के साथ आयी आंधी के कारण उत्तर गुजरात के साबरकांठा जिले के मुख्यालय हिम्मतनगर मे कल होने वाली प्रधानमंत्री की एक चुनावी सभा के लिए लगाए गए विशाल पंडाल को भी खासा नुकसान पहुंचा और यह लगभग धराशायी हो गया।

पंडाल का बड़ा हिस्सा आंधी में उड़ गया। वहां पहुंचे गुजरात के गृहराज्य मंत्री प्रदीपसिंह जाडेजा ने कहा कि पंडाल के बड़े हिस्से को नुकसान हुआ है पर बुधवार को मोदी की सभा से पहले इसे ठीक कर लिया जाएगा। सभा स्थल पर रखी हजारो कुर्सियां भी आंधी के कारण तितर बितर हो गई अथवा औंधी पड़ गई।

इसी तरह दाहोद जिले के वाटबारा गांव में केंद्रीय मंत्री तथा भाजपा प्रत्याशी जसवंत भाभोर की सभा का पंडाल भी तेज हवा के कारण उड़ गया। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार बेमौसम की यह वर्षा पश्चिमी विक्षोभ के कारण राजस्थान के ऊपर बनी एक चक्रवाती प्रणाली के प्रभाव से हो रही है।

Check Also

महिला अपने 4 बच्चों के साथ कुएं में कूदी, सभी की मौत

  मंदसौर। मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले की भानपुरा तहसील के ग्राम खेड़ा खजूरना में बंजारा …