Breaking News
Home / breaking / ससुराल पहुंचे दूल्हे को पड़ोसियों ने बताया -तुम पहले नहीं तीसरे पति हो !

ससुराल पहुंचे दूल्हे को पड़ोसियों ने बताया -तुम पहले नहीं तीसरे पति हो !

 

मुम्बई। भायंदर निवासी एक हीरा कारोबारी दुल्हन पाने के चक्कर अपना सब कुछ लुटा बैठा। लुटेरी दुल्हन ने अपने साथियों की मदद से उसके जेवर और जज्बात दोनों उड़ा लिए और फुर्र हो गई। पत्नी को ढूंढता हुआ पति जब उसके कथित पीहर पहुंचा तो पता चला वह पहला नहीं बल्कि तीसरा शिकार था। पीड़ित पति ने इंदौर के हीरानगर थाने में फरियाद की है।

दूल्हा शितुल बी शाह (35) बुधवार दोपहर मां हंसा बहन और चाचा राजू के साथ थाने पहुंचा। उसने पत्नी अश्विनी, सास सुधा और चाचा ससुर अनिल, चाची सास राधा के खिलाफ धोखाधड़ी व चोरी की शिकायत की।

 

यूं फंसाया

शितुल ने पुलिस को बताया पिछले साल दशहरे के आसपास जैन विवाह संस्था के संचालक अनिल व राधा जैन (विजयनगर) से उसकी मुलाकात हुई। अनिल ने तीन-चार लड़कियों के फोटो बताए।

कुछ दिन बात अनिल ने कॉल कर बुलाया और उसकी भतीजी अश्विनी के फोटो दिखाए और उसकी मां सुधा से मुलाकात करवाई। रिश्ता पसंद आने पर 3.11 लाख रुपए में शादी तय हो गई। शितुल परिजन व रिश्तेदारों के साथ चिंतामण गणेश (उज्जैन) पहुंचे और अश्विनी से शादी कर ली।

शादी के पांच दिन बाद अश्विनी की कथित मां उससे मिलने मुंबई पहुंची। उसने कहा अश्विनी को कुछ दिन के लिए घर भेज दो। उस वक्त शितुल बाहर गया हुआ था। परिजन ने अश्विनी को सुधा के साथ भेज दिया। जब शितुल के पिता बच्चूभाई ने वापस आने के लिए कॉल किया तो अश्विनी ने कहा ‘बहुत दिन साथ रही। अब सपना समझकर भूल जाओ’। अनिल व राधा ने भी उनसे बात नहीं की। लंबे इंतजार के बाद शितुल बुधवार को छानबीन करते हुए ससुराल पहुंचा तो पड़ोसियों ने बताया कि तुम तीसरे पति हो। इसके पहले भी दो लोग ठगी का शिकार हो चुके हैं। उसकी मां (सुधा) भी फर्जी है। पिता का कोई पता नहीं है। राधा और अनिल भी नकली चाचा-चाची हैं।

Check Also

24 अप्रेल मंगलवार को आपका दिन कैसा बीतेगा, पढ़ें आज का राशिफल

  वैशाख मास, शुक्ल पक्ष, नवमी तिथि, जानकी नवमी, वार मंगलवार, सम्वत 2075, बसन्त ऋतु, …