Breaking News
Home / breaking / हाजी जमीर उल्लाह का विवादित बयान, बोले- ‘बुर्का बैन करने वालों को नंगा करके घुमाओ’

हाजी जमीर उल्लाह का विवादित बयान, बोले- ‘बुर्का बैन करने वालों को नंगा करके घुमाओ’

अलीगढ़। अपने बयानों को लेकर हर समय चर्चा में रहने वाले समाजवादी पार्टी (सपा) के पूर्व विधायक जमीर उल्लाह खान का एक और विवादित बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने कहा कि ‘बुर्का’ बैन करने वाले लोगों को नंगा करके रोड पर घुमाया जाए ताकि उन्हें पता चले की बेपर्दगी क्या होती है। दरअसल मुरादाबाद (Moradabad) जिले में स्थित एक कॉलेज (college) में बुर्का (Burqa) बैन (Ban) करने को लेकर हाजी जमीर ने यह बयान दिया है।
बुर्के पर बात करने वाले लोग जाहिल गवार हैं- हाजी जमीर उल्लाह
समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक हाजी जमीर उल्लाह ने कॉलेज में बुर्का बैन करने के सवाल पर कहा कि यह बिल्कुल गलत है, अगर लड़कियां कॉलेज में बुर्का पहनकर जाना चाहती हैं तो जाएं बुर्के पर कोई पाबंदी नहीं होनी चाहिए। जो बुर्के पर पाबंदी लगाए उसे पहले नंगा करके घुमाया जाए तब उसे पता चलेगा कि बेपर्दगी क्या होती है। उन्होंने आगे कहा कि बुर्के पर बात करने वाले लोग जाहिल गवार हैं, इस तरीके की बात नहीं करनी चाहिए।

सपा के पूर्व विधायक ने कहा कि इससे पहले भी बहन बेटियां कॉलेजों में तालीम हासिल कर रही थी। यह कोई आज का कल्चर है या आज पैदा हुआ है ड्रेस कोड कोई आज नया पैदा हुआ है। इससे पहले क्या ड्रेस कोड नहीं था, जो जैसे चाहे वह पढ़े लिखे आगे बढ़े। यह कौन सा मतलब है कि आप बुर्का बैन कर देंगे।

‘हिजाब हमारे यहां बहन बेटियों की आवाज है’
हाजी जमीर ने कहा कि हिजाब हमारे हिंदुस्तान का कल्चर है। हिजाब हमारे यहां बहन बेटियों की आवाज है। इन्हें बहन बेटियों की आवाज आज भी सुनाई नहीं देती है। अगर बात करें गांव की तो गांव में आज भी बहू बेटियां लंबे-लंबे घूंघट में देखने को मिल जाएंगी। कॉलेज में बुर्का पहनकर जाने का कल्चर आज पैदा हुआ है क्या? पूर्व से ही कॉलेज में बुर्का पहनकर जाने की प्रथा है।

Check Also

ससुराल वाले डाल रहे थे धर्मान्तरण का दबाव, दामाद ने की खुदकुशी

मेरठ। एक हिंदू युवक के सुसाइड का सनसनीखेज मामला सामने आया है. अहम बात यह …