Breaking News
Home / breaking / हीरा कारोबारी का 12 वर्षीय बेटा बन गया जैन मुनि

हीरा कारोबारी का 12 वर्षीय बेटा बन गया जैन मुनि

सूरत। मन में वैराग्य की लौ जल जाए तो फिर उसमें सांसारिक सुख-सुविधा और भौतिक आनन्द की चाह जलकर राख हो जाती है। ऐसी ही लौ जली है महज 12 साल आयु के बालक में। सूरत के हीरा कारोबारी दीपेश शाह के बेटे भव्य जैन ने आज सांसारिक मोह-माया त्याग कर वैराग्य ग्रहण कर लिया। वह जैन मुनि बन गया। माता-पिता ने सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में अपने लाडले को वैराग्य पथ पर विदा किया।

उमरा स्थित जैन संघ में गुरुवार को आचार्य रश्मिरत्नसूरी ने भव्य को दीक्षा दी। खास बात यह भी है कि दीपेश शाह की बेटी प्रियांशी ने भी चार साल पहले 12 साल की उम्र में ही दीक्षा ग्रहण की थी।

 

फरारी में निकला था वरघोड़ा

दीक्षा से पहले गत 24 मार्च को भव्य का फरारी में वरघोड़ा निकाला गया था। महंगी गाड़ियों और परफ्यूम का शौक रखने वाले भव्य की इच्छा थी कि उसका वरघोड़ा फरारी जैसी महंगी गाड़ी में निकाला जाए। भव्य की यह इच्छा उसके पिता के दोस्त ने फरारी गाड़ी भेज कर पूरी की थी।

जैन भिक्षु बनने के मौके पर भव्य ने कहा कि ईश्‍वर के दिखाए सच्‍चे मार्ग को अपनाकर मैं खुश हूं। मैं अपने माता-पिता को छोड़ रहा हूं क्‍योंकि उन्‍होंने मुझे सिखाया कि यही सच्‍चा मार्ग है। मेरे पिता और मां भी एक दिन इसी मार्ग पर आएंगे।

 

यह भी पढ़ें

31 साल की कम्प्यूटर इंजीनियर भावना बनेंगी साध्वी, अपनाई वैराग्य की राह

Check Also

24 मई गुरुवार को आपके भाग्य में क्या होगा बदलाव, पढ़ें आज का राशिफल

ज्येष्ठ मास, शुक्ल पक्ष, दशमी तिथि, वार गुरुवार, सम्वत 2075, ग्रीष्म ऋतु, रवि उत्तरायण   …