Breaking News
Home / breaking / VIDEO : विधानसभा में पूंछ हिलाने वाला नहीं, बल्कि मूछ हिलाने वाला चाहिए

VIDEO : विधानसभा में पूंछ हिलाने वाला नहीं, बल्कि मूछ हिलाने वाला चाहिए

जयपुर। भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांगानेर से वाहिनी के प्रत्याशी घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि विधानसभा में पूंछ हिलाने वाला नहीं बल्कि मूंछ हिलाने वाला चाहिए और सब जानते हैं कि वो घनश्याम तिवाड़ी है। तिवाड़ी ने कहा कि दोनों बड़ी पार्टियों में न विचार जीवित है न कोई सिद्धांत ही बचा है।

घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि जब कर्नाटक में कुमारस्वामी अपनी सरकार बना सकता है तो राजस्थान में घनश्याम तिवाड़ी क्यों नहीं बना सकता। उन्होंने कहा कि जितनी बार भाजपा सीएम के चेहरे के रूप में वसुंधरा राजे को आगे करती रहेगी उतनी बार भाजपा को नुकसान होता रहेगा। वहीं कांग्रेस अपनी आंतरिक लडाई में व्यस्त है। इसीलिए इस बार भारत वाहिनी पार्टी की सरकार बनेगी, जिसमें सांगानेर की जनता का अहम योगदान रहेगा।

देखें वीडियो

सांगानेर से वाहिनी के प्रत्याशी तिवाड़ी ने कहा कि मैंने 27 साल की उम्र में जेपी के साथ मिलकर लोकतंत्र की रक्षा की लड़ाई में भाग लिया और जीता। वहीं आज 72 की उम्र में भी लोकतंत्र की लड़ाई लड़ रहा हूं और सांगानेर की जनता के प्यार की बदौलत जीत दर्ज करूंगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने लोकतंत्र को लूटतंत्र में तब्दील कर दिया है।

तिवाड़ी ने कहा कि हमने कुछ सिद्धांतों को लेकर भारत वाहिनी पार्टी का गठन किया है। उन्होंने कहा कि बाकी पार्टीयों ने घोषणा पत्र जारी किए मगर हमने दृष्टि—पत्र जारी किया है। उन्होंने कहा कि यदि भारत वाहिनी पार्टी की सरकार बनती है तो वाहिनी की प्राथमिकता प्रदेश में उत्पन्न हो रहे जल संकट का स्थाई समाधान करने का होगा।

तिवाड़ी ने कहा कि हम ब्राह्मणी नदी को बीसलपुर से जोड़ने का काम करेंगे। हम बिजली की स्वतंत्रता, रोजगार की समस्या का निराकरण, कर्जमुक्त किसान, आर्थिक न्याय, सामाजिक समरसता और शिक्षा पर विशेष ध्यान देंगे।

तिवाड़ी ने कहा कि पहले गृहणीयों के पास घर के हर कोने में कुछ मात्रा में पैसा छिपा कर रखा करती थी मगर जबसे नोटबंदी लागू हुई है तबसे उनकी यह व्यवस्था पूरी तरह धराशायी हो गई है। उन्होंने कहा कि यह एक व्यवस्था हुआ करती थी जो कि घर की ईज्जत बचाने के लिए महिलाएं बचत किया करती थी मगर उसे अब नोटबंदी की मार लगी है।

उन्होंने कहा कि व्यवसायी वर्ग को भाजपा से भूलकर भी हाथ नहीं मिलाना है अन्यथा जितना नुकसान नोटबंदी और जीएसटी से हुआ है उससे कहीं ज्यादा नुकसान आगे होने की संभावनाएं बन रही है।

घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि जब जयपुर शहर में मंदिर टूटे थे तब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कहा कि सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरकर धरना और प्रदर्शन करना है। तब भाजपा का एकमात्र विधायक भरी बरसात में सांगासेतू पुलिया पर संघ के स्वयंसेवकों के साथ धरने पर बैठे थे।

उन्होंने कहा कि जयपुर की धरती पर सबसे बड़ा पाप हुआ हिंगौनिया गोशाला में हजारों की संख्या में गौ माता का काल का ग्रास बनना और दुसरा बड़ा पाप यह हुआ कि शहर के सैंकड़ों मंदिरों को तोड़ा गया। तिवाड़ी ने कहा कि क्या इस सरकार को अपने बुरे कर्मों की सजा इन चुनावों में जरूर मिलेगी।

तिवाड़ी ने कहा कि मेरी लड़ाई व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है बल्कि यह तो सांगानेर की जनता के स्वाभीमान की लड़ाई है। उन्होंने सांगानेर की जनता से अपील करते हुए कहा कि विधानसभा में जनता और सभी वर्गों की आवाज गुंजाने के लिए बांसुरी के चिन्ह का बटन दबाकर सांगानेर से घनश्याम तिवाड़ी को विधानसभा में भेजने का काम करें।

Check Also

महिला सीए को एसीबी ने आठ लाख की रिश्वत लेते हुए पकड़ा

अहमदाबाद। गुजरात पुलिस के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने एक व्यक्ति से आठ लाख रूपए का …