Breaking News
Home / breaking / सोनिया गांधी के PS ने एक नेता संग सोने का भी बनाया दबाव

सोनिया गांधी के PS ने एक नेता संग सोने का भी बनाया दबाव

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निजी सचिव पीपी माधवन पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली पीड़िता ने कहा है कि आरोपी ने उससे सच छुपाया। खुद माधवन के फोन कॉल से ही उसे उनके शादीशुदा होने का पता चला। पीपी माधवन ने पहले खुद को तलाकशुदा बताया था।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निजी सचिव पीपी माधवन पर 26 वर्षीय महिला ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पुलिस ने महिला की शिकायत पर 25 जून को केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उत्तम नगर थाने में महिला ने शिकायत में बताया है कि माधवन ने नौकरी लगाने और शादी करने का वादा किया था। फिलहाल पुलिस आरोपी की तलाश में छापेमारी कर रही है। पीड़िता के अनुसार 21 जनवरी 2022 को आरोपी ने पीड़िता को इंटरव्यू के लिए सुंदर नगर स्थित एक मकान में बुलाया। आरोप है कि पीड़िता के साथ कई बार दुष्कर्म किया गया।
दरअसल, जांच के दौरान पीड़िता ने पुलिस को दिए गए बयान में बताया है कि पीपी माधवन ने उससे शादी करने का वादा किया था। उन्होंने खुद को तलाकशुदा बताया था। एक दिन पीपी माधवन पीड़िता से फोन पर बात कर रहे थे तो अचानक उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी को पीड़िता के बारे में पता चल गया है। पत्नी से इस बात को छिपाने के लिए वह अब फोन में उसका नाम बदलकर लिखेंगे, ताकि उनके इस रिश्ते का खुलासा पत्नी के सामने न हो। हालांकि इस घटना के बाद से पीड़िता ने माधवन का विरोध करना शुरू कर दिया था।

शादी का दवाब बनाते ही धमकी दी

पीड़िता को जब माधवन के शादीशुदा होने का पता चला तो वह पहले परेशान हुई। बाद में उसने तय किया कि जब माधवन ने उससे शादी का झांसा देकर रिश्ता बनाया है तो वह शादी का दबाव बनाएगी। पीड़िता ने शादी का दबाव बनाया और फोन पर बात करनी और मैसेज करने बंद कर दिए तो माधवन गुस्सा हो गए। पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद गुस्से में माधवन ने एक शख्स को पीड़िता के घर भेजा और उसे धमकी दी कि अगर वह बात नहीं करेगी तो गंभीर नतीजे भुगतने होंगे। पीड़िता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाते हुए यह भी कहा है कि माधवन ने उसे एक नेता से संबंध बनाने के लिए कहा था, जिसका भी उसने विरोध किया था।

पीड़िता को थाने में रात तक बैठाया

पीड़िता का कहना था कि वह उत्तम नगर थाने में सुबह 10 बजे शिकायत करने पहुंची। पूरे दिन थाने में आला अधिकारियों का आना जाना लगा रहा। देर रात उसकी एफआईआर दर्ज की गई। पीड़िता के अनुसार, उसे रात 3.30 बजे तक थाने में रोककर रखा गया था।

मेरे खिलाफ आरोप बेबुनियाद : माधवन

माधवन ने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक प्रतिशोध के कारण उनकी छवि धूमिल करने के लिए उनर पर आरोप लगाए गए हैं। माधवन ने कहा कि कुछ मीडिया रिपोर्ट के माध्यम से उन्हें पता चला है कि उत्तम नगर थाने में उनके खिलाफ यौन उत्पीड़न का केस दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि वह 25 जून को उत्तम नगर थाने में पेश हुए थे और मामले पर स्पष्टीकरण दिया था, जिसके बाद उन्हें जाने के लिए कह दिया गया था। मेरे पास पुख्ता सबूत हैं कि मेरे खिलाफ केस राजनीतिक प्रतिशोध के कारण दर्ज कराया गया है। यह मुझे बदनाम करने की साजिश है।

Check Also

9 अगस्त मंगलवार को आपके भाग्य में क्या होगा बदलाव, पढ़ें आज का राशिफल

      सावन मास, शुक्ल पक्ष, द्वादशी तिथि, वार मंगलवार, सम्वत 2079, वर्षा ऋतु, …