Breaking News
Home / breaking / कोचिंग सिटी पर कलंक : एक ही दिन में 3 बच्चों ने किया सुसाइड

कोचिंग सिटी पर कलंक : एक ही दिन में 3 बच्चों ने किया सुसाइड

 

कोटा। राजस्थान की कोचिंग सिटी कहे जाने वाले कोटा शहर में आज एक ही दिन में तीन कोचिंग छात्रों के आत्महत्या करने का दुर्भाग्यपूर्ण मामला सामने आया है। इनमें दो छात्र तो एक ही राज्य के थे और एक ही हॉस्टल में पास-पास के कमरों में रह रहे थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटा के जवाहर नगर थाना क्षेत्र में एक हॉस्टल में रहकर मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट की कोचिंग ले रहा छात्र अंकुश यादव आज दोपहर 12 बजे तक भी जब अपने कमरे से बाहर नहीं निकला व उसके साथ के छात्रों के बार-बार खटखटाने के बावजूद उसने दरवाजा नहीं खोला तो शक होने पर छात्रों ने हॉस्टल संचालक को सूचना दी। हॉस्टल संचालक ने मौके पर पहुंचकर जैसे-तैसे कमरे का दरवाजा खोला तो छात्र अंकुश यादव फांसी के फंदे से लटका हुआ मिला वह बिहार के सुपौल का रहने वाला था।

इसी घटना को लेकर जब हॉस्टल में अफरा-तफरी का सा माहौल था, तभी अंकुश यादव के बिल्कुल बगल के कमरे में रहने वाला बिहार के ही गया जिले के छात्र उज्जवल कुमार की बहन हॉस्टल में पहुंची और जब उसने देखा कि इस अफरा-तफरी के माहौल में भी उसका भाई उज्जवल कुमार कमरे से बाहर नहीं निकला है तो उसे कुछ संदेह हुआ।

यह भी देखें

 

उसने यह बात हॉस्टल संचालक को बताई तो तब तक वहां पहुंच गई पुलिस ने उस छात्र के कमरे का दरवाजा खोला तो हो वह भी अपने कमरे की छत पर फांसी के फंदे से लटका मिला। एक ही दिन में एक ही हॉस्टल में एक ही राज्य के दो छात्रों के फांसी लगाकर आत्महत्या करने की घटना से इस हॉस्टल में ही नहीं बल्कि आसपास का माहौल गमगीन हो गया।

 

यह भी देखें

पुलिस अधीक्षक (शहर) केसर सिंह शेखावत और व्रत के पुलिस उप अधीक्षक अमर सिंह राठौड़ भी सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे और वहां के हालात का जायजा लिया। दोनों छात्रों के शव को पोस्टमार्टम के लिए महाराव भीमसिंह अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया गया है।

एक अन्य प्रकरण में कोटा के कुन्हाडी इलाके में आज तड़के एक कोचिंग छात्र ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस सूत्रों ने बताया कि आज तड़के करीब तीन बजे कुन्हाडी थाना क्षेत्र की लैंडमार्क सिटी के एक हॉस्टल में रहने वाले छात्र प्रणव वर्मा (17) के जहर खा लेने की सूचना मिली थी जिसे उपचार के लिए एक निजी अस्पताल ले जाया गया लेकिन तब यक वह दम तोड़ चुका था।

 

 

सूत्रों ने बताया कि पिछले दो साल से कोटा में रहकर नीट की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्र गुना (मप्र) निवासी प्रणव वर्मा ने कल रात को खाना खाया था और अपने कमरे में जाने के बाद माता-पिता से भी फोन पर बात की थी और इस बातचीत के दौरान वह पूरी तरह से स्वस्थ था।

रात करीब 1.30 बजे इसी हॉस्टल में रहने वाला एक अन्य छात्र जब पानी पीने के लिए अपने कमरे के बाहर आया तो उसने प्रणव वर्मा को गैलरी में पड़े देखा जिसकी सूचना दिए जाने के बाद हॉस्टल प्रबंधको ने छात्र को एक निजी अस्पताल लेकर गए लेकिन उसकी मृत्यु हो गई। मृतक छात्र के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है इसलिए आत्महत्या के कारणों का अभी खुलासा नहीं हुआ है।

Check Also

ससुराल वाले डाल रहे थे धर्मान्तरण का दबाव, दामाद ने की खुदकुशी

मेरठ। एक हिंदू युवक के सुसाइड का सनसनीखेज मामला सामने आया है. अहम बात यह …