Breaking News
Home / breaking / बच्चे को घर छोड़ने आए जज ने किया ‘किस’, तो हुआ गन्दे खेल का खुलासा

बच्चे को घर छोड़ने आए जज ने किया ‘किस’, तो हुआ गन्दे खेल का खुलासा

जयपुर। राजस्थान के भरतपुर जिले में 14 वर्षीय बालक के साथ कथित सामूहिक दुराचार मामले में न्यायाधीश और दो अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। विशेष न्यायाधीश को और बालक को धमकाने के आरोप में पुलिस अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है।

पुलिस के अनुसार भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के उपाधीक्षक परमेश्वर लाल यादव को बालक को धमकाने के लिये तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

जोधपुर उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल की ओर से जारी आदेशानुसार विशेष न्यायाधीश जितेन्द्र सिंह गुलिया को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

पीडित बालक की मां की ओर से भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के विशेष न्यायाधीश और दो अन्य के खिलाफ उसके बच्चे को नशीला पदार्थ देकर उसके साथ पिछले एक महीने से दुराचार करने का मामला दर्ज करवाया गया है।

दर्ज शिकायत में पीडित की मां ने न्यायाधीश जितेन्द्र सिंह गुलिया और राहुल कटारा व अंशुल सोनी पर बालक को घटना के बारे में किसी को बताने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

भरतपुर के मथुरागेट थानाधिकारी रामनाथ ने रविवार को बताया कि दर्ज शिकायत के आधार पर न्यायाधीश गोलिया और राहुल कटारा व अशुंल सोनी के खिलाफ पॉक्सो अधिनियम के तहत सामूहिक दुराचार का मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच वरिष्ठ अधिकारी को सौंप दी गई है।

पुलिस ने बताया कि पीडित परिवार के सदस्यों ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के उपाधीक्षक परमेश्वर लाल यादव, न्यायाधीश के स्टेनो अंशुल सोनी और राहुल कटारा पर उसके नाबालिग बच्चे को मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

पुलिस ने बताया कि न्यायिक अधिकारी ने कंपनी बाग स्थित डिस्ट्रिक क्लब में 14 वर्षीय बालक के साथ दोस्ती की। बालक वहां टेनिस खेलने जाता था।

इस स्टेडियम में अधिकारी भी आते हैं और जज भी आते हैं। स्पेशल कोर्ट एसीबी केसेस में तैनात न्यायाधीश जितेंद्र गुलिया ने बच्चे को अपनी बातों में फंसा लिया और उसको बहला-फुसलाकर रोजाना अपने घर ले जाता था और उसके साथ गलत काम करता था।

 

पिछले दिनों जब जज गुलिया बच्चे को उसके घर छोड़ने आया तो उसे किस किया। यह सब उसकी मां ने बॉलकनी से देख लिया। उसने बेटे को अपनी कसम दिलाकर पूछताछ की तो बेटे ने रोते हुए बताया कि जज और उसके साथी शराब पिलाकर उसके साथ गन्दा काम करते हैं। भैया को जेल भिजवाने की धमकी देते हैं। मां के साथ भी गन्दा काम करने की धमकी देते हैं।

माफी का वीडियो वायरल

प्रकरण में कुछ वीडियो भी सामने आए हैं, जब न्यायाधीश जितेंद्र गुलिया पीड़ित परिवार के घर पहुंचा। वहां हाथ जोड़कर बच्चे व उसकी मां से माफी मांगता हुआ दिखाई दे रहा है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि न्यायाधीश जितेंद्र गुलिया पीड़ित बच्चे और उसकी मां से हाथ जोड़कर माफी मांग रहा है और कहता हुआ नजर आ रहा है कि मुझे माफ कर दो, जो हुआ उसे भूल जाओ।

Check Also

 ‘जंगल’ में हुई 3 करोड़ की शादी, सब रह गए हैरान

  बस्तर। छत्तीसगढ़ के बस्तर में इन दिनों एक शादी की खूब चर्चा हो रही …