Breaking News
Home / breaking / मंत्रालयिक कर्मचारियों व अधिकारियों की पदोन्नति को लेकर शिक्षा विभागीय कर्मचारी संघ आक्रामक

मंत्रालयिक कर्मचारियों व अधिकारियों की पदोन्नति को लेकर शिक्षा विभागीय कर्मचारी संघ आक्रामक

बीकानेर। मंत्रालयिक कर्मचारियों व अधिकारियों की पदोन्नति को लेकर शिक्षा विभागीय कर्मचारी संघ ने आक्रामक रुख अपना लिया है।
शिक्षा विभागीय कर्मचारी संघ राजस्थान बीकानेर के अजमेर संभाग अध्यक्ष मनोज वर्मा ने बताया कि बुधवार को संघ पदाधिकारी एवं सदस्यों ने ऑनलाइन बैठक आयोजित की और ज्ञापन दिया।

यह दिया ज्ञापन

1.श्री मान अशोक गहलोत माननीय मुख्यमंत्री राजस्थान
2. श्री मान बुलाकी दास कल्ला केबिनेट मंत्री राज सरकार
3.श्रीमान गोविन्द सिंह डोटासरा शिक्षा मंत्री राजस्थान सरकार
4.श्रीमान डी बी गुप्ता मुख्य शासन सचिव राज सरकार
5.श्रीमती मन्जु राजपाल प्रमुख शासन सचिव स्कूल शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा विभाग जयपुर
6.निदेशक माध्यमिक/प्रारभिक शिक्षा राजस्थान बीकानेर।
 *प्रशासनिक अधिकारी के पद पर वर्ष 2019-2020  की डीपीसी में 2 वर्ष के शिथिलन के बावजूद अनियमित  पूर्वक डेफर के विरुद्ध में ज्ञापन*  दिया जा रहा है शिक्षा ग्रुप-2 के पत्र दिनाक 25/10/2019  के द्वारा अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी से प्रशासनिक अधिकारी के पदों पर पदोन्नति में स्वीकृत पदों के  45 प्रतिशत  से अधिक पद रिक्त होने के कारण राज्य सरकार ने 2 वर्ष का शिथिलन प्रदान किया था संघ के अनेकों ज्ञापनों के बाद 19/12/2019 को श्रीमती मन्जु राजपाल प्रमुख शासन सचिव स्कूल शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा विभाग जयपुर की अध्यक्षता में डी पी सी की बैठक हुई इस सम्बंद में संघ के यह ध्यान में आया है कि श्रीमती मन्जु राजपाल प्रमुख शासन सचिव ने अकारण उस डी पी सी को डेफर कर दिया जिससे विभाग के कार्मिकों में भारी रोष उतपन्न हो गया शिक्षा विभागीय कर्मचारी संघ बार बार ज्ञापन वार्ताओ से इस रोष को अवगत करवा चुका है विभाग के मंत्रालयिक कर्मचारियों की पदोन्नति में अब देरी सहन नही की जाएगी हमारे द्वारा विभाग के सभी संवर्गों की डीपीसी समय द्वारा की जाती है संघ को मजबूर होकर निर्णय लेना पड़ेगा कि समय रहते  *बकाया डीपीसी डेफर करने का आदेश प्रतिहारित कर नई तिथि घोषित नही की जाएगी तो समस्त संवर्ग की डीपीसी के कार्य का बहिष्कार किया जाएगा।
   आज के ज्ञापन में भी शोशल डिस्टेंस का भी ध्यान रखा गया। इसलिये श्री विष्णु पुरोहित और श्री गिरजाशंकर ही उपस्थिति रहे।सोशल राय में अनेक साथियो ओर संघ के पदाधिकारियों ने राय दी। इनमें मुख्य रुप से श्री मदन मोहन ब्यास श्री राजेश ब्यास  गिरजा शंकर आचार्य श्री विष्णुपुरोहित श्री पुनम चन्द ब्यास जोधपुर श्री कृष्ण चन्द ब्यास श्री गोविन्द श्रीमाली श्री पंकजभटनागर  कमलनारायणआचार्य श्री अजय आचार्य श्री पीरा राम शर्मा श्री मुकेश बोहरा पाली बाडमेर श्री गिरिराज हर्ष श्री जितेन्द्र माथुर अनुप नलावत जयपुर संदीप धबाई  जयपुर औम सारडा श्री ललित मोहन जयपुर उदयपुर मनोज वर्मा अजमेर श्री देवराज जोशी श्री महेन्द्र रंगा श्री राजेन्द्र चौधरी  श्री नीरज भटनागर श्री महेन्द्र सिह सीकर
श्री सुरेश कुमार झुन्झुनू श्री कुलदीप ढाका चुरू श्री हरीश पालीवाल उदयपुर  श्रीआईदानसिहजैसलमेरः श्री दुर्जन सिह बाडमेर श्री राकेश मोड चितौड श्री हरिराम भांभु चुरू श्री लक्ष्मीकांत शर्मा फतेहपुर श्री सुनिल शर्मा अलवर श्री कुंज बिहारी जोशी अलवर श्री मुकेश बुंदी श्री विक़म बेक्लीवाल बांसवाड़ा श्री इन्द़ सिह देवडा सिरोही श्री शिवकुमार कल्ला श्री गोपाल कल्ला जोधपुर श्री राकेश शर्मा सीकर श्री राधेश्याम थानवी फलोदी जितेन्द्र आचार्य बंशीलाल जोशी गोकुल साखला कुलदीप जोशी संजीव पंवार महेश आचार्य विश्वप्रिय आचार्य कमलेश हर्ष मुल चंद आचार्य घनश्याम पंवार केकड़ी डॉ श्याम व्यास, कन्हैया लाल किराडु  रामेश्वर औझा महावीर गुजर प़वीण गहलोत मग्तु श्रीमाली गोविन्द सिह राजपुरोहित शामिल हुए।

Check Also

मन्दिर के चढ़ावे पर हाथ साफ, सीसीटीवी देखा तो चौंक गए लोग

  शिमला। राजधानी शिमला के अनाडेल स्थित श्री नाग देवता राम मंदिर में चढ़ावे के पैसों …