Breaking News
Home / breaking / रक्षाबंधन पर मिठाई कारोबार को 5,000 करोड़ रुपए का नुकसान

रक्षाबंधन पर मिठाई कारोबार को 5,000 करोड़ रुपए का नुकसान

इंदौर। भाई-बहन के पवित्र रिश्ते के त्योहार रक्षाबंधन की कल्पना मिठाइयों के बिना नहीं की जा सकती। लेकिन इस बार कोविड-19 के प्रकोप ने मिठाइयों का कारोबार फीका कर दिया है।

मिठाई निर्माताओं के एक राष्ट्रीय महासंघ का कहना है कि ग्राहकों की जेब पर महामारी की मार के साथ ही अलग-अलग राज्यों में प्रशासन के कथित कुप्रबंधन के कारण रक्षाबंधन पर मिठाइयों की बिक्री घटकर आधी रह जाने का अनुमान है। इससे मिठाई उद्योग को करीब 5,000 करोड़ रुपए का नुकसान झेलना पड़ सकता है।

फेडरेशन ऑफ स्वीट्स एंड नमकीन मैन्युफैक्चरर्स के निदेशक फिरोज एच. नकवी ने रविवार को कहा, ‘पिछले साल रक्षाबंधन के मौके पर देशभर में करीब 10,000 करोड़ रुपए की मिठाइयां बिकी थीं। लेकिन इस बार यह आंकड़ा 5,000 करोड़ रुपए के आस-पास सिमट जाने का अनुमान है।‘
नकवी ने कहा, ‘कोविड-19 से उत्पन्न आर्थिक संकट के कारण ग्राहकों की खरीद क्षमता पर तो पहले से ही असर पड़ रहा है। लेकिन मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और कुछ अन्य राज्यों के कई जिलों में रक्षाबंधन (सोमवार) से ठीक पहले पड़ने वाले शनिवार और रविवार को मिठाइयों की दुकानें खोलेने की अनुमति मिलने को लेकर अंतिम पलों तक भारी असमंजस बना रहा। नतीजतन त्योहारी मांग के मुताबिक मिठाइयों का पर्याप्त निर्माण और स्टॉक नहीं किया जा सका।‘

Check Also

दुबई से 53 लाख का सोना लेकर पहुंचे 2 यात्री एयरपोर्ट पर अरेस्ट

कन्नूर। केरल में कन्नूर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से गुरुवार को सीमा शुल्क अधिकारियों ने 932 …