Breaking News
Home / breaking / लॉकडाउन में बाल संस्कार वर्ग, नामजप सत्संग, धर्मसंवाद का ‘ऑनलाइन’ लें आनंद

लॉकडाउन में बाल संस्कार वर्ग, नामजप सत्संग, धर्मसंवाद का ‘ऑनलाइन’ लें आनंद

जयपुर। ‘कोरोना’ विषाणु ने संपूर्ण विश्‍व में मृत्यु का उत्पात मचा रखा है। इससे लाखों लोग संक्रमित हो चुके हैं। अभी भी यह संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा है। इसके फलस्वरूप पूरे भारत में ‘संचारबंदी एवं यातायात बंदी (लॉकडाउन)’ लागू की गई है। कुल मिलाकर समाज में भय का वातावरण बना हुआ है और सर्वत्र चिंता, असुरक्षा और निराशा की भावना बढ गई है।

हिन्दू जनजागृति समिति, मध्य प्रदेश एवं राजस्थान समन्वयक आनंद जाखोटिया ने बताया कि ऐसे समय में सभी का मनोबल गिरता जा रहा है। इस गिरते मनोबल को रोकने, आत्मबल बढाने और इस प्रकार के कठिन प्रसंगों में भी आनंदित रहने के लिए नियमित रूप से साधना करना आवश्यक है। इसे समय की मांग समझकर सनातन संस्था एवं हिन्दू जनजागृति समिति के संयुक्त तत्त्वावधान में ‘ऑनलाइन सत्संगमाला’ आरंभ की गई है।

 

शासन की ओर से यातायात बंदी की अवधि में घर के बाहर न निकलने का आवाहन किया गया है। उसके कारण घर बैठकर भी अनेक लोगों को ‘अब क्या करें, यह समझ में नहीं आ रहा है। ऐसे में बच्चों को भी खेलने के लिए बाहर नहीं भेज सकते। इसलिए अभिभावकों के सामने ‘उन्हें क्या दें’, यह प्रश्‍न है। इस पृष्ठभूमि पर यह ‘ऑनलाइन सत्संग माला’ आपके परिवार के लिए निश्‍चितरूप से पूरक सिद्ध होगी।

इस शृंखला में छोटे बच्चों के लिए बालसंस्कार वर्ग, इस भीषण संकटकाल में आत्मबल बढने हेतु नामजप सत्संग, ईश्‍वर के प्रति श्रद्धा दृढ होकर ईश्‍वर के प्रति भाव की वृद्धि करने हेतु ‘भावसत्संग’ साथ ही आकस्मिक आपदाओं के संदर्भ में धर्म क्या कहता है, धर्मशिक्षा की आवश्यकता आदि अनेक प्रश्‍नों के उत्तर देने वाला ‘धर्मसंवाद’ प्रतिदिन ऐसे 4 कार्यक्रम आरंभ किए गए हैं।

यह ‘ऑनलाइन सत्संगमाला’ हिन्दू जनजागृति समिति के ‘हिन्दू अधिवेशन’ नामक ‘फेसबुक पेज’ और यू-ट्यूब चैनल ‘हिन्दूजागृति’ के द्वारा, साथ ही सनातन संस्था के ‘फेसबुक पेज’ और ‘यू-ट्यूब चैनल’ द्वारा लाइव प्रक्षेपित की जा रही है।

ये सत्संग हिन्दी भाषा के साथ ही कन्नड, तेलगु, तमिल एवं मल्यालम भाषाआें में प्रक्षेपित किए जा रहे हैं । घर बैठे इन कार्यक्रमों का लाभ उठाने हेतु ‘लॉकडाउन’ की अवधि का सदुपयोग करें, सनातन संस्था और हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से यह आवाहन किया गया है ।

हिन्दी ‘ऑनलाइन सत्संगमाला’ प्रक्षेपण के समय

1. नामजप सत्संग – सवेरे 10.30 से 11. 15 (पुनर्प्रसारण – दोपहर 4 से 4.45)
2. बालसंस्कार वर्ग – सवेरे 11.15 से 12
3. भावसत्संग – दोपहर 2.30 से 3.15
4. धर्मसंवाद – रात 8.00 से 8.45 (पुनर्प्रसारण दूसरे दिन दोपहर 1 से 1.45)

हिन्दी‘ऑनलाइन सत्संग माला’ कहां देखी जा सकती है?

* Youtube.com/HinduJagruti
* Youtube.com/SanatanSanstha1
* Facebook.com/HinduAdhiveshan
* Facebook.com/Sanatan.org

Check Also

शादी के 3 दिन पहले दोस्त ने युवक का गुप्तांग काटा

बागपत। उत्तर प्रदेश के बागपत में पैसों के लेनदेन के विवाद में एक युवक का गुप्‍तांग …