Breaking News
Home / breaking / 3 दिन का अल्टीमेटम : तेलंगाना हाउस के लिए जमीन आवंटन तुरन्त निरस्त करो

3 दिन का अल्टीमेटम : तेलंगाना हाउस के लिए जमीन आवंटन तुरन्त निरस्त करो

 

अजमेर। राजस्थान के अजमेर में तेलंगाना हाऊस एवं अल्पसंख्यक छात्रावास हेतु आवंटित जमीन के विरोध में दर्जनों कॉलोनियों के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। आरएसएस के पूर्व महानगर संघ चालक सुनील जैन की अगुवाई में लोगों ने जिला कलेक्टर अंशदीप को 3 दिन में आवंटन रद्द नहीं होने पर उग्र आंदोलन का अल्टीमेटम दिया है।

अजमेर में कोटडा आवासीय योजना के क्षेत्रवासियों की संघर्ष समिति के बैनर तले विरोध जताने लोग डाक बंगले पर एकत्रित हुए और पूर्व मंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक वासूदेव देवनानी, उपमहापौर नीरज जैन, संघ के नगर संचालक सुनीलदत्त जैन, शहर भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अरविन्द यादव के नेतृत्व में पैदल मार्च करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे और जिलाधीश एवं अजमेर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष अंशदीप को विरोध पत्र सौंप कर आवंटित जमीने निरस्त करने की मांग की।

देवनानी कहा कि कांग्रेस सरकार के ईशारे पर हिन्दू बहुल क्षेत्र में अल्पसंख्यकों के लिए तेलंगाना हाऊस एवं अल्पसंख्यक छात्रावास के लिए जमीन आवंटन क्षेत्रवासियों के साथ अन्याय है तथा क्षेत्र में अशांति पैदा करना है। जिसे किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने चेतावनी दी कि आवंटित जमीन निरस्त नहीं की गई तो सडक से सदन तक आन्दोलन चलाया जाएगा।

अजमेर के उपमहापौर नीरज जैन ने इसे क्षेत्र में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडने वाला कदम बताया। सुनील दत्त जैन ने कायड में पडे भू-भाग पर बसाने की बात कहते हुए आवंटन निरस्त करने की मांग की।

उधर, वार्ड एक के कांग्रेसी पार्षद बनवारीलाल शर्मा ने भी जमीन आवंटन निरस्त करने की मांग करते हुए खुलासा किया कि पूर्ववर्ति बीजेपी सरकार की मुखिया मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कार्यकाल में ही जमीन आवंटित करने का प्रस्ताव मंजूर किया गया था। तब एडीए अध्यक्ष शिव शंकर हेड़ा को भी लोगों के विरोध स्वरूप यह प्रस्ताव ठंडे बस्ते में डालना पड़ा था। जिन लोगों ने बीज बोया, अब वही विरोध कर राजनीतिक रोटियां सेंक रहे हैं।

Check Also

ससुराल वाले डाल रहे थे धर्मान्तरण का दबाव, दामाद ने की खुदकुशी

मेरठ। एक हिंदू युवक के सुसाइड का सनसनीखेज मामला सामने आया है. अहम बात यह …