Breaking News
Home / breaking / VIDEO : व्हाट्अप ग्रुप में अश्लील पोस्ट का मामला : अजमेर कलक्टर की ​गिरफ्तारी की मांग

VIDEO : व्हाट्अप ग्रुप में अश्लील पोस्ट का मामला : अजमेर कलक्टर की ​गिरफ्तारी की मांग

अजमेर। प्रशासनिक अधिकारियों में परस्पर समन्वय और त्वरित जानकारी साझा करने के लिए कोविड—2019 अजमेर नाम के व्हाट्अप ग्रुप में आपत्तिजनक पोस्ट डाले जाने का मामला तूल पकडता जा रहा है। विधायक अनिता भदेल ने सोमवार को इस बारे में प्रेस कांफ्रेस कर पत्रकारों के बीच नाराजगी भरे लहजे में सीधे तौर पर इसके लिए कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा को जिम्मेदार ठहराया तथा उनकी गिरफ्तारी की मांग की है।

बतादें कि उक्त व्हाट्सअप ग्रुप में जिलेभर के आईएएस, आईपीएस, आरएएस समेत अधिकतर अधिकारी जुडे हुए हैं। अब तक सामने आ रही जानकारी के अनुसार ग्रुप में कलक्टर के निजी सहायक मनोज विश्वकर्मा ने दो आपत्तिजनक पोस्ट अपलोड कर दी।

देखें वीडियो

 

ये पोस्ट अपलोड होते ही प्रशासनिक अधिकारी सकते में आ गए। मामला संज्ञान में आने के बाद कलेक्टर ने निजी सहायक को तत्काल एपीओ कर दिया। खुद पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने इसे आपत्तिजनक मानते हुए सिविललाइन थानाप्रभारी को मामले की जांच के आदेश किए हैं। विवाद बढने पर कलक्टर केनिर्देश पर कोविड—19 अजमेर नाम से नया व्हाट्सअप ग्रुप बनाया गया।

विधायक भदेल ने कहा कि ग्रुप में महिलाओं की गंदी तस्वीरें पोस्ट करना सरासर अपराध है। ग्रुप एडमिन स्वयं ​कलक्टर हैं इसलिए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के साथ गिरफ्तारी भी होनी चाहिए। इस ग्रुप में महिला अधिकारी भी शामिल हैं। जिस तरह से पोस्ट डाली गई है उसे वे तो क्या आमजन भी बर्दाश्त नहीं करेगा। इसलिए जिस तरह से ऐसे अपराध के लिए आम आदमी के खिलाफ कार्रवाई होती है ठीक उसी तरह कलक्टर के खिलाफ भी एक्शन लिया जाना चाहिए। कलक्टर कानून से उपर नहीं है, उनकी गिफ्तारी की जानी चाहिए।

सरकारी के मुखिया अशोक गहलोत का प्रशासन बेलगाम है यही वजह है कि आए दिन इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। इस शासन में महिलाओं की इज्जत तार तार हुई है।

मुख्यमंत्री की असंवेदनशीलता का आलम ये है कि वे विधायकों के लिखित पत्रों का जवाब नहीं देते, पूछने पर जवाब मिलता है कि वे कोराना की भेंट चढ गए। उन्होंने सवाल उठाया किे सिर्फ दस जनपथ से प्राप्त पत्र पर ही वे संज्ञान लेते हैं या जनता की भी सुनते हैं।

क्या था मामला

कोरोना महामारी से जुडी सरकारी सूचनाओं तथा तथ्यों के त्वरित आदान प्रदान के लिए जिला प्रशासन ने कोविड—2019 अजमेर नाम से व्हाट्अप ग्रुप बना रखा है। इसमें कलक्टर, एसपी, कई आईएएस, आईपीएस, आरएएस, चिकित्सा, नगर निगम, एडीए समेत कई विभागों के अधिकारी जुडे है। इसी में कलक्टर के निजी सहायक मनोज विश्वकर्मा भी ग्रुप में शामिल है।

ग्रुप में चूंकि कोरोना संबंधी जानकारी लगातार अपडेट होती रहती है अत: अधिकारी वर्ग इस ग्रुप को थोडी थोडी देर में चैक करते रहते हैं। बताया जा रहा है कि रविवार को सुबह करीब 11 बजकर 5 मिनट पर दो पोस्ट अपलोड की गई। इनमें से एक अश्लील तथा दूसरी शराब की बोतल की तस्वीर थी। ये पोस्ट मनोज विश्वकर्मा की ओर से डाली गई थी। ग्रुप में इस तरह की पोस्ट देखते ही कुछ वरिष्ठ अधिकारियों ने अपत्ति दर्ज कराई। बात कलक्टर तक पहुंची तो उन्होंने तत्काल कार्रवाई करते हुए अपने निजी सहायक को एपीओ कर दिया।

Check Also

मन्दिर के चढ़ावे पर हाथ साफ, सीसीटीवी देखा तो चौंक गए लोग

  शिमला। राजधानी शिमला के अनाडेल स्थित श्री नाग देवता राम मंदिर में चढ़ावे के पैसों …