Breaking News
Home / breaking / देशभक्ति को झटका : इंडियन प्रीमियर लीग पर रहेगी चीनी कम्पनी की छाप

देशभक्ति को झटका : इंडियन प्रीमियर लीग पर रहेगी चीनी कम्पनी की छाप

 

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव और चीनी कंपनियों तथा सामान के भारत में बहिष्कार के आह्वान के बावजूद चीन की मोबाइल कंपनी वीवो इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टाइटल प्रायोजक बनी रहेगी।

आईपीएल के 13वें संस्करण के संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितम्बर से आयोजन को भारत सरकार की हरी झंडी मिल गई है। टूर्नामेंट 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक होगा।

आईपीएल की संचालन परिषद की रविवार को हुई महत्वपूर्ण बैठक में आईपीएल ने अपने सभी प्रमुख प्रायोजकों को बरकरार रखने का फैसला किया जिसमें चीन की मोबाइल कंपनी वीवो शामिल है जो आईपीएल की टाइटल प्रायोजक है।

यूएई में 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक होगा आईपीएल-13

इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां संस्करण संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक आयोजित होगा और इस बार आईपीएल में हर टीम में खिलाड़ियों की संख्या 24 तक होगी।

 

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव जय शाह ने आईपीएल की संचालन परिषद की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये बैठक के बाद आधिकारिक बयान जारी कर बताया कि टूर्नामेंट यूएई में होगा और इसके मैच यूएई के तीन शहरों दुबई, अबु धाबी और शारजाह में खेले जाएंगे। समझा जाता है कि टूर्नामेंट को खेल मंत्रालय की हरी झंडी मिल गई है तथा गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय की मंजूरी जल्द मिलने की उम्मीद है।

Check Also

कश्मीर में फिर आतंकी ​हमला, CRPF जवानों पर आतंकियों ने की फायरिंग

श्रीनगर।  जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों पर आतंकी हमले का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा …