Breaking News
Home / breaking / जैन आचार्य विद्यासागर महाराज ने मंत्रोच्चार के साथ त्यागी देह

जैन आचार्य विद्यासागर महाराज ने मंत्रोच्चार के साथ त्यागी देह

 
रायपुर।  जैन आचार्य  विद्यासागर महाराज ब्रम्हलीन हो गए हैं। जैन मुनि ने आज रात 2 बजकर 30 बजे समाधि (देह त्याग दी) ले ली है। छत्तीसगढ़ के डोंगरगढ़ स्थित चन्द्रगिरी तीर्थ पर उन्होंने अंतिम सांस ली।

आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का अंतिम संस्कार आज 18 फरवरी रविवार दोपहर किया जा रहा है।

देशभर में शोक की लहर

आचार्य श्री विद्यासागर महाराज के देह त्यागने से देशभर में शोक की लहर है। आचार्यश्री पिछले कुछ दिन से अस्वस्थ थे। पिछले तीन दिन से उन्होंने अन्न जल त्याग दिया था। आचार्य अंतिम सांस तक चैतन्य अवस्था में रहे और मंत्रोच्चार करते हुए उन्होंने देह का त्याग किया।

हजारों शिष्य डोंगरगढ़ के लिए रवाना

समाधि के समय उनके पास पूज्य मुनिश्री योगसागर जी महाराज, श्री समतासागर जी महाराज, श्री प्रसादसागर जी महाराज संघ सहित उपस्थित थे। देश भर के जैन समाज और आचार्यश्री के भक्तों ने उनके सम्मान में आज एक दिन अपने प्रतिष्ठान बंद रखने का फैसला किया है। सूचना मिलते ही आचार्यश्री के हजारों शिष्य डोंगरगढ़ के लिए रवाना हो गए हैं।

पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

पीएम मोदी ने भी आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा मेरी प्रार्थनाएं उनके अनगिनत भक्तों के साथ हैं। आने वाली पीढ़ियां उन्हें समाज में उनके अमूल्य योगदान के लिए याद रखेंगी, विशेषकर लोगों में आध्यात्मिक जागृति के उनके प्रयासों, गरीबी उन्मूलन, स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा और अन्य कार्यों के लिए।

Check Also

मौलाना ने 14 साल की लड़की से किया रेप, प्रेग्नेंट होने पर दी गर्भपात की दवा

कानपुर. एक किशोरी को बहला फुसला कर मौलाना चार माह तक दुष्कर्म करता रहा. जब …