Breaking News
Home / breaking / जम्मू हादसा : अंडमान एक्सप्रेस ट्रेन से 11 शव लाए मथुरा, घरों में मची चीख पुकार

जम्मू हादसा : अंडमान एक्सप्रेस ट्रेन से 11 शव लाए मथुरा, घरों में मची चीख पुकार

 

मथुरा। जम्मू के अखनूर हादसे में 22 लोगों की मौत के बाद शनिवार शाम ट्रेन संख्या 16032 अंडमान एक्सप्रेस से 11 लोगों के शव मथुरा लाए गए।
तीर्थनगरी मथुरा से करीब 20 लोग वैष्णो देवी की यात्रा के लिए जम्मू गए थे। इनकी बस दो दिन पहले गुरुवार की दोपहर 12 बजे पुंछ राष्ट्रीय राजमार्ग पर अखनूर के टूंगी मोड़ पहुंची। यहां से जम्मू से शिवखौड़ी धाम जाते समय हादसा हो गया। बस अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई। हादसे में कई लोगों की मौत हो गई, जबकि कई गंभीर रूप से घायल हैं।
शनिवार को 11 शव अंडमान एक्सप्रेस ट्रेन से मथुरा जंक्शन पहुंचे। यहां से संबंधित गांव ले जाए गए। खबर मिली तो मृतकों के घरों में लोगों का जमावड़ा हो गया। घरवालों का रो रोकर बुरा हाल है। गांव के लोग परेशान परिजन को ढांढस बंधाते रहे।

 

 

 शाम 6 बजकर 3 मिनट पर मथुरा जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर आठ पर पहुंचे। सभी शवों को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच एंबुलेंस में रखवाया गया। फिर उन्हें अधिकारियों की निगरानी में गंतव्य के लिए रवाना कर दिया गया।
अंडमान एक्सप्रेस से अलीगढ़ के नाया निवासी लक्ष्मण प्रसाद, अनामिका, रुद्र, नैना, सीमा देवी, समरजीत, अंजली, संजय, तनुज, सुरेश सिंह और सुनीता देवी के शव लाए गए। पुलिस अधिकारियों ने एक एक कर सभी शवों को नीचे उतरवाया। इस दौरान जंक्शन पर रेल यात्रियों की भीड़ जुट गई। एक के बाद एक 11 शव देखकर लोगों की आंखें नम हो गई। अलीगढ़ से आए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी शवों को अपने साथ लेकर रवाना हुए।

अंजली के शव को लेकर विवाद

जम्मू हादसे में नाया अलीगढ़ निवासी अंजली की मौत हुई है। अंजली ने नगला बरी जाबरा मांट निवासी भानु प्रकाश से पहली पत्नी के रहते हुए दूसरी शादी की थी। अंजली का 10 साल का बेटा है। जो इन दिनों ननिहाल में हैं। भानु प्रकाश ने बताया कि अंजली 22 मई को अपने मायके नाया अलीगढ़ गई थी। बेटा यश भी उसके साथ गया था।

वहां से अंजली अपने ताऊ सुरेश और तैयेरे भाई संजय के साथ उसे बिना बताए वैष्णो देवी के दर्शन करने चली गई। बेटे यश को ननिहाल में छोड़ गई। उन्हें बहन प्रेमवती ने मेरठ से फोन कर हादसे की जानकारी दी। भानु प्रकाश, अंजली के शव को अपने साथ ले जाना चाहते थे लेकिन अंजली के भाई गजेंद्र ने इस बात का विरोध किया। मामला उलझते देख अधिकारियों ने अंजली के शव को गजेंद्र के साथ अलीगढ़ के लिए रवाना कर दिया।

Check Also

अयोध्या राम मंदिर में डेली दर्शन के लिए बनेंगे स्पेशल पास

अयोध्या।  रामलला के नित्य दर्शनार्थियों के लिए राम मंदिर ट्रस्ट जल्द ही पास जारी करने …