Breaking News
Home / breaking / टीचर ने करोड़पति बनने के चक्कर में तांत्रिक से गंवाए लाखों रुपए

टीचर ने करोड़पति बनने के चक्कर में तांत्रिक से गंवाए लाखों रुपए

केकड़ी। जल्दी करोड़ पति बनने के लालच में एक शिक्षक ने लाखों रुपए गंवा दिए। मामला यह है कि अजमेर रोड केकड़ी निवासी एवं भराई स्कूल में पदस्थापित शिक्षक अशोक मीणा ने न्यायालय में इस्तगासा पेश कर बताया की वह धार्मिक प्रवृत्ति का है और देवगांव गेट बाहर स्थित श्मशान गृह के दिदारनाथ आश्रम के कालीनाथ मंदिर में 2019 से वह रोज जाता था। मंदिर में बने कमरों में सब्जीमंडी निवासी जय प्रकाश शर्मा उर्फ सिद्धांत नाथ अघोरी उर्फ ध्यान योगी सिद्धांत ने अपना उपासना स्थल बना रखा था जहां वह हवन आदि के माध्यम से तांत्रिक क्रियाएं करता था।

14 जनवरी 2020 को सिद्धान्त ने अशोक मीणा को आसन गांव शाहपुर जिला ठाणे महाराष्ट्र निवासी शिवनाथ के बारे में बताया कि वह बहुत बड़ा तांत्रिक है। वह एक ऐसी लकड़ी की पेटी देगा जिसमें से तीन साल तक रोज दस हजार रुपए निकलेंगे। इसके लिए तीन लाख रुपए शिवनाथ के बैंक खाते में डलवाने को सिद्धान्त ने अशोक मीणा को बोला।

इस पर अशोक ने सिद्धान्त के झांसे में आकर विभिन टुकड़ों में शिवनाथ के बैंक खाते में तीन लाख रुपए डलवा दिए। इसके बाद अशोक सिद्धान्त ध्यान योगी व एक अन्य मित्र के साथ शिवनाथ के यंहा जाकर उसकी दी हुई लकड़ी के पेटी लेकर केकड़ी आ गए।

यह भी देखें

केकड़ी आकर अशोक ने विधि विधान पूर्वक लकड़ी की पेटी की पूजा अर्चना की और पेटी से रोज 10 हजार रुपए निकलना शुरू हो गए।

 

इस बीच 6 दिन तक पेटी से कुल 58 हजार रुपए निकले लेकिन सातवें दिन से पेटी से रुपए निकलना बंद हो गए। इस बाबत अशोक ने सिद्धान्त योगी को बताया तो सिद्धान्त ने शिवनाथ से बात करके अशोक को बताया कि तांत्रिक क्रिया से पेटी को वापस दुरस्त कर लौटने को कहा।

यह भी देखें

कुछ दिनों बाद सिद्धान्त योगी ने अशोक मीणा को जमीन में गड़ा सोने मिलने की बात कही और कहा कि सोने को शुद्ध करने के लिए जड़ी बूटी खरीदने के लिए शिवनाथ को एक लाख रुपए की जरूरत है। शिवनाथ ने जमीन में मिले सोने का पांच प्रतिशत अशोक मीणा को देने का वादा भी किया। इस पर अशोक मीणा ने ई मित्र के जरिये शिवनाथ के खाते में एक लाख रुपए डलवा दिए।

अशोक मीणा ने इस्तगासे में बताया कि झूठे चमत्कारों व तांत्रिक क्रियाओं के माध्यम से अनेक बार झांसा देकर दोनों सिद्धान्त योगी व शिवनाथ ने बैंक खातों में कुल 14-95 लाख रुपए अनेक बार मे डलवाए और 6-50 लाख रुपए नगद लिए। इसके अलावा सिगरेट, शराब, नारियल, जड़ी बूटी आदि के नाम पर लगभग 20 लाख रुपए अलग से ले चुके हैं। इस्तगासे पर सुनवाई के बाद न्यायालय ने केकड़ी शहर थाना पुलिस को दोनों आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जांच करने के आदेश पारित किए।

Check Also

एसी कोच में पसीना आने पर भड़के रेलयात्री, ट्रेन रुकते ही कर दिया हंगामा

मथुरा। मंगला एक्सप्रेस ट्रेन के एसी कोच में कूलिंग कम होने से यात्रियों पर यात्रियों का …