Breaking News
Home / breaking / पति को झांसा देकर नवनवेली दुल्हन कनाडा हुई फुर्र, 31 लाख भी हड़पे

पति को झांसा देकर नवनवेली दुल्हन कनाडा हुई फुर्र, 31 लाख भी हड़पे

 

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में पदमपुर थाना क्षेत्र में शादी करके विदेश गई एक युवती और यहां रह रहे उसके माता-पिता द्वारा 31 लाख की ठगी करने का मामला उजागर हुआ है।

पुलिस के अनुसार कनाडा गई इस युवती के ससुर द्वारा दी गई रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया गया है। थाना क्षेत्र में चक 7-आरबी निवासी जरनैलसिंह जटसिख (47) ने दर्ज करवाए मुकदमे में पुत्रवधू राजवीरकौर, उसके पिता सुखजीतसिंह जटसिख और मां रविंद्रकौर निवासी चक 7-डीडी पर उसके पुत्र समनदीपसिंह को शादी कर विदेश भिजवाने के नाम पर यह ठगी करने का आरोप लगाया गया है।

जरनैलसिंह ने बताया है कि सुखजीत सिंह अपनी पत्नी रविंद्रकौर के साथ मई 2018 में उसके घर आया। इस दंपती ने बताया कि उनकी पुत्री राजवीरकौर का कनाडा के एक कॉलेज में एडमिशन होने का ऑफर लेटर आया है। अगर वह अपने पुत्र समनदीपसिंह की राजवीर कौर से अपने खर्चे पर शादी कर देता है, तो राजवीरकौर शादी के बाद समनदीप को कनाडा बुला लेगी।

जरनैल सिंह के मुताबिक दोनों परिवारों में रजामंदी हो जाने पर 16 जून 2018 को पदमपुर के उत्सव पैलेस में सगाई समारोह किया गया। फिर 27 अक्टूबर 2018 को पदमपुर के रॉयल गार्डन पैलेस में धूमधाम से शादी की गई। पूर्व में हुई सहमति के अनुसार इस शादी पर सारा खर्च उसी ने वहन किया जो कि लगभग 9 लाख रुपए आया।

रिपोर्ट में बताया कि सुखजीतसिंह ने राजवीरकौर की फीस भरने के लिए साढे चार लाख रूपए और फिर सगाई के 8-9 दिन बाद 25 जून को पांच लाख 40 हजार रूपए ले लिए। यह राशि सुखजीतसिंह के बैंक अकाउंट में आरटीजीएस के जरिए ट्रांसफर की गई थी। शादी के बाद राजवीर कौर को विदेश जाने के लिए एयर टिकट के सुरजीत सिंह ने 20 हजार रुपए नगद प्राप्त किए।

विदेश जाने के बाद राजवीरकौर ने जनवरी 2019 में समनदीपसिंह का वर्क परमिट वीजा बनवाने संबंधी कुछ कागजात व्हाट्सएप पर भेजे। यह वीजा बनवाने के नाम पर राजवीरकौर और उसके पिता ने उनसे कुछ रुपए ले लिए। इसके बाद कई बार वर्क परमिट वीजा फाइल निरस्त हो जाने और दोबारा कागजात बनवाने के नाम पर राजवीरकौर लगातार रुपए मंगवाती रही लेकिन उन्हें वीजा प्राप्त नहीं हुआ।

परिवादी ने बताया कि उससे नौ लाख रूपए शादी के, दस लाख राजवीरकौर की फीस और वर्क वीजा परमिट बनवाने आदि के कागजातों के 11 लाख 90 हजार ले चुका है। करीब 31 लाख रुपए इस परिवार ने ले लिए लेकिन समनदीपसिंह को कनाडा नहीं भिजवाया। अब रुपए भी वापस नहीं कर रहे।

Check Also

21 जून सोमवार को आपके भाग्य में क्या होगा बदलाव, पढ़ें आज का राशिफल

ज्येष्ठ मास, शुक्ल पक्ष, एकादशी तिथि, निर्जला एकादशी व्रत, विश्व योग दिवस, वार सोमवार, सम्वत …