Breaking News
Home / breaking / यह कैसी चौकसी : रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर सो रही बच्ची को उठा ले गया दरिंदा

यह कैसी चौकसी : रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर सो रही बच्ची को उठा ले गया दरिंदा

अजमेर। राजस्थान में अजमेर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर परिजन के साथ सो रही मध्यप्रदेश के ग्वालियर की 11 वर्षीय बालिका को आधी रात कोई दरिंदा उठाकर ले गया। सुबह 4.30 बजे बच्ची स्टेशन पर खड़ी खाली ट्रेन में लहूलुहान हालत में मिली। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस वारदात ने जीआरपी और आरपीएफ के सुरक्षा दावों की पोल खोल दी है। स्टेशन परिसर में लगे 300 सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में हुई इस वारदात के बाद से सनसनी फैली हुई है। जीआरपी थाना पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार दरगाह जियारत के लिए आया परिवार अजमेर स्टेशन के प्लेटफार्म 4-5 पर सोमवार रात नौ बजे आकर सो गया। मध्यरात्रि में जब वे टिकट लेने जगे तो उनका बैग और बालिका नहीं मिली। बालिका के अपहरण की आशंका के चलते जीआरपी को सूचना दी गई।

काफी तलाश के बाद बालिका सुबह करीब साढ़े चार बजे एक खड़ी ट्रेन में घायलावस्था में मिली। पुलिस ने बताया कि उसके शरीर में चोट, मुंह लहुलूहान और अंदरुनी अंग पर चोट के निशान मिले। पुलिस ने तुरंत उसे जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय पहुंचा दिया, जहां आपातकालीन यूनिट में वह उपचाररत है।

उसके साथ दुष्कर्म की आशंका वश मेडिकल मुआयना भी कराया गया है। इस वारदात से जीआरपी और आरपीएफ सहित रेलवे महकमे में हड़कम्प मचा हुआ है। पुलिस के उच्चाधिकारियों के निर्देश पर पुलिस दरिंदगी करने वाले की तलाश में जुटी है।

कैसी गश्त, कैसी निगरानी?

इस सनसनीखेज वारदात ने स्टेशन पर तैनात जवानों की गश्त और लाखों रुपए खर्च कर लगाए गए सीसीटीवी कैमरों के जरिए निगरानी पर सवाल खड़े कर दिए हैं। स्टेशन पर अवैध शराब परिवहन का छोटा-मोटा मामला पकड़ने के बाद मीडिया में प्रेसनोट जारी कर वाहवाही लूटने वाले अफसर अगर वाकई गश्त और मुस्तैदी पर जोर देते तो यह वारदात टाली जा सकती थी।
वर्दी पहनकर आम यात्रियों पर रूआब डालने वाले जवान अगर ईमानदारी से गश्त करते तो रेलवे प्लेटफार्म जैसी जगह से एक बच्ची को उठाकर ले जाने और दरिंदगी करने जैसा जुर्म करने की किसी की हिम्मत नहीं होती। फिलहाल रेलवे अफसर भी स्टेशन परिसर में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सफाई दे रहे हैं।

Check Also

श्रीखंड महादेव यात्रा आज से शुरू, जयकारों के साथ पहला जत्था

कुल्लू। देवाधिदेव महादेव के पंच कैलाशों में से एक और उत्तर भारत की सबसे कठिनतम …