Breaking News
Home / breaking / रास्ता भटककर मौत के मुहाने पर पहुंचे थे जैन तीर्थ यात्री

रास्ता भटककर मौत के मुहाने पर पहुंचे थे जैन तीर्थ यात्री

जोधपुर/जालोर/अजमेर

जोधपुर संभाग के जालोर जिले के महेशपुर गांव में हादसे का शिकार हुए ब्यावर एवं अजमेर के जैन तीर्थ यात्री रास्ता भटककर मौत के मुहाने तक पहुंचे थे। वे गूगल मैप के जरिए आगे बढ़ रहे थे कि इस गांव में पहुंच गए और यात्रियों से भरी बस बिजली के तार की चपेट में आ गई। इससे बस में सवार लोग बुरी तरह झुलस गए। पूरी बस आग की चपेट में आने से ड्राइवर समेत 6 लोगों के मौत हो गई। घायलों इलाज के लिए जालौर भिजवाया गया। वहां से गंभीर लोगों को जोधपुर रेफर किया गया। हादसे की जानकारी मिलने पर पुलिस और प्रशासनिक अमला महेशपुर गांव पहुचा, और राहत बचाव कार्य शुरू किए। अजमेर और ब्यावर से भी जैन समाज के लोग पहुंच गए।

जानकारी के मुताबिक, राजस्थान के जालोर जिले के महेशपुर गांव में भीषण हादसा हुआ है। यात्रियों से भरी हुई दो बसें रास्ता भटकीं और एक गांव में पहुंच गई। वहां रास्ते में बिजली के तार झूलते देख ड्राइवर ने बस रोक दी। बस का कंडक्टर या खलासी बस की छत पर पहुंचा और एक डंडे की मदद से बिजली के तार को ऊपर उठा कर बस को निकालने की कोशिश की जा रही थी।इसी दौरान डंडे से बिजली का तार झटक कर बस से अटक गया। जिससे कि बस में करंट दौड़ गया। इसके बाद बस में सवार अन्य लोग भी करंट की चपेट में आए और देखते ही देखते बस में भी आग पकड़ ली।

पीएम मोदी ने व्यक्त की संवेदना
प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर हादसे में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने लिखा कि राजस्थान के जालौर में हुए बस हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है। इस दुर्घटना में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। मैं उनके परिवार वालों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

सभी जैन समुदाय के लोग थे सवार

इस हादसे में बस में सवार सभी लोग जैन समुदाय से संबंधित थे जो कि तीर्थटन पर निकले थे। हादसे में ब्यावर निवासी सोनल (44), सुरभि ( 25 ) , ब्यावर निवासी चांद देवी ( 65 ), अजमेर निवासी राजेन्द्र, ड्राइवर धर्मचन्द जैन व एक अन्य की मौत हो गई जबकि बस में सवार अन्य लोग झुलसे हैं। जिनको जालोर भेज गया है। गंभीर झुलसे लोगों को जोधपुर रेफर किया गया है।

नाकोड़ा दर्शन कर निकले थे श्रद्धालु

दो बसों में सवार यह सभी श्रद्धालु अजमेर और ब्यावर क्षेत्र के हैं। वे बाड़मेर के नाकोड़ा में दर्शन करने के बाद जालोर के मांडोली में जैन मंदिर में दर्शन करने पहुंचे थे । मगर यहां से ब्यावर जाते समय रास्ता भटककर महेशपुरा गांव पहुंच गए । वहां बिजली तार की चपेट में आने से हादसा हो गया । नाकोड़ा दर्शन करने के बाद यह सभी जालौर के रामसीन क्षेत्र में बने जैन मंदिर के दर्शन करने के लिए जा रहे थे। लेकिन गूगल मैप के जरिए रास्ता भटकने के बाद यह महेशपुर गांव में पहुंच गए जहां बिजली के तारों के संपर्क में आने से पूरी बस में करंट फैल गया और बाद में आग लग गई जिससे यह हादसा हो गया।

Check Also

VIDEO : अजमेर में जेसीबी से फल सब्जी के ठेले तोड़ने का फर्जी वीडियो वायरल

  अजमेर। कोरोना महामारी के बीच भी शरारती तत्व फेक वीडियो वायरल कर बेवजह माहौल …