Breaking News
Home / breaking / पूरा जोशीमठ खतरे में, शहरवासियों ने सरकार से लगाई गुहार

पूरा जोशीमठ खतरे में, शहरवासियों ने सरकार से लगाई गुहार

 
 

देहरादून। चारधाम के प्रमुख तीर्थ बद्रीनाथ के आधार शहर जोशीमठ के निवासियों ने कहा कि शहर की बुनियाद धंस रही है लेकिन सरकार सामूहिक पुनर्वास की उनकी गुहार पर कुछ नहीं कर रही।

‘जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति’ के संयोजक अतुल सती ने यहां पत्रकारों से कहा, “हम एक साल से पुनर्वास की मांग कर रहे हैं, लेकिन हमारी बात नहीं सुनी जा रही।”
उन्होंने कहा, “जोशीमठ का आधार धंस रहा है। 500 से अधिक घरों में दरारें आ गई हैं। लोग अपने घरों को बांस के खंभे से सहारा देकर संभालने की कोशिश कर रहे हैं और चीथड़ों से ढंक रहे हैं। लेकिन राज्य सरकार पर कोई असर नहीं पड़ रहा।”
उन्होंने कहा कि जोशीमठ रणनीतिक, धार्मिक और पर्यटन महत्व का अंतिम सीमावर्ती शहर है जो भूकंपीय क्षेत्र पांच में आता है।

सती ने चेतावनी दी कि यदि भूकंप आया, तो जान-माल को भारी नुकसान होगा।

विशेषज्ञों की एक टीम ने भी कस्बे का सर्वेक्षण किया और पाया है कि यह धीरे-धीरे डूब रहा है। बड़ी संख्या में घरों में बड़ी दरारें दिखाई दे रही हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मामले पर चमोली के जिलाधिकारी हिमांशु खुराना से रिपोर्ट मांगी है और रिपोर्ट आने पर सुधारात्मक कदम उठाने की बात कही है।

Check Also

आवारा कुत्तों ने घर में घुसकर 2 साल के बच्चे को नोंच-नोंच कर मार डाला

बड़वानी। मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले से एक बड़ी ही दिल दहलाने वाली घटना सामने …